कोरोना काल में राहत वाली खबर: कोरोना रिकवरी रेट में छत्तीसगढ़ पहुंचा देश में छठवें स्थान पर

  • मरीजों का रिकवरी रेट (Corona Recovery Rate) में सबसे बेहतर है छत्तीसगढ़, 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में छत्तीसगढ़ छठवें स्थान पर है।

28 june 2020,

City News – CN  City news logo

रायपुर | छत्तीसगढ में भले ही कोरोना मरीजों की संख्या 2500 का आंकड़ा पार कर गई हो मगर राहत इस बात की है बीते दिनों में बड़ी संख्या में मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे हैं। यही वजह है कि प्रदेश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट जो 5 जून की स्थिति में 27 प्रतिशत था, वह तेजी से बढ़ कर 74 प्रतिशत जा पहुंचा है।  

जो की राज्य स्वास्थ्य विभाग और दिन-रात अपनी जान जोखिम में डालकर मरीजों के इलाज में जुटे स्वास्थ्य कर्मियों के लिए बड़ी उपलब्धि है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा 26 जून की स्थिति में तैयार की गई रिपोर्ट के मुताबिक जिन 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में मरीजों का रिकवरी रेट (Corona Recovery Rate) देश में सबसे बेहतर है उनमें छत्तीसगढ़ छठवें स्थान पर है।

छत्तीसगढ़ का रिकवरी रेट मध्य प्रदेश से सिर्फ 3 प्रतिशत कम है। छत्तीसगढ़ का रिकवरी रेट देश के रिकवरी रेट से 16 प्रतिशत अधिक है। देश का रिकवरी रेट इसलिए कम है, क्योंकि दिल्ली, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश समेत कई राज्यों में अभी भी बड़ी संख्या में मरीज मिल रहे हैं।

प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग का मानना है कि अभी भले ही स्थिति संभली हुई दिख रही है, मगर कोरोना वायरस कभी भी तेजी से पलटवार कर सकता है। चिंता खासकर शहरी क्षेत्रों में है, क्योंकि मजदूरों की वापसी हो चुकी है और अब जो आएंगे वे या तो विदेश से आएंगे या फिर दूसरे राज्यों में फंसे अन्य समुदाय के लोग होंगे।

जैसे – छात्र, परिवार के ऐसे लोग जो अपने नाते-रिश्तेदार के यहां गए थे, मगर लॉकडाउन की वजह से लौट नहीं सके या फिर नौकरीपेशा लोग। अब ये सब ट्रेन, प्लेन या फिर निजी वाहनों के जरिए ई-पास लेकर वापसी कर रहे हैं।

राज्य में मृत्यु दर 0.5 प्रतिशत

छत्तीसगढ़ में कोरोना के 2545 मरीजों में अब तक 13 मरीजों की मौत हुई है, जिनमें से 9 मरीज किसी न किसी अन्य बीमारी से पीड़ित थे, बाद में उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। मौत की एक वजह कोरोना वायरस भी रहा। प्रदेश में कोरोना से मृत्यु दर 0.5 प्रतिशत है, जो पड़ोसी राज्यों की तुलना में काफी बेहतर है।

अब हमारी लापरवाही ही बढ़ा रही कोरोना की ताकत

प्रदेश में 2545 मरीजों में एक्टिव मरीजों की संख्या 700 से अधिक है। ये मरीज भी जल्दी ठीक होंगे। मगर, अब अगर मरीज बढ़े तो यह हमारी-आपकी लापरवाही से बढ़ेंगे। अगर हम मास्क लगाकर चलेंगे, सोशल और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करेंगे तो संभव है कि वायरस स्प्रेड रुकेगा डिस्टेंसिंग इसलिए नियमों का पालन करें ताकि जल्द नियंत्रण हो सके।

स्वास्थ्य विभाग के उप संचालक एवं प्रवक्ता डॉ अखिलेश त्रिपाठी ने कहा कि कोरोना को लेकर कोई भी पूर्वानुमान नहीं लगाया जा सकता। कभी भी एकाएक मरीज बढ़ सकते हैं। हां, बीते कुछ दिनों में जरूर काफी मरीज की हुए हैं।

 ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए हमारे

   YOUTUBE चैनल को सब्सक्राइब करें  

           WHATSAPP   ग्रुप से जुड़ें          

Source link

Share on :