city news wishes for ram mandir

BREAKING : कोरोना जांच में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही, बिना टेस्ट के दे दिए फर्जी आंकड़े, लोगों में आक्रोश

7
  • कोरोना संकट में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। फर्जी टेस्ट के आंकड़ों से मचा हड़कंप

16 JULY 2020,

City News – CN 

City news logo Subscribe Youtube channel 

दुर्ग। कोरोना संकट में स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। फर्जी टेस्ट के आंकड़ों से हड़कंप मच गया है। दुर्ग स्वास्थ्य विभाग के उस दावे पर ग्राम बोरीगारका के ग्रामीण आक्रोशित हो गए जिसमें जानकारी दी गई थी कि मंगलवार को 49 बच्चों की जांच की गई है।

ग्रामीणों का कहना था कि स्वास्थ्य विभाग की टीम आई अवश्य थी, लेकिन वह दोपहर 3 बजे लौट गए। प्राइमरी कॉटेक्ट में आए 31 लोगों की जांच की गई। आंगनबाड़ी के बच्चों की जांच नहीं की गई है।

ग्रामीणों के इस आक्रोश को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम बुधवार को दोपहर बाद दोबारा बोरीगारका पहुंची और ऐसे बच्चों की विशेष रुप से जांच की गई जो आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के संपर्क में आए थे।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने 31 बच्चों की रैण्डम जांच की। अगर सैंपल लिए बच्चों की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो अन्य बच्चों का भी सैंपल कलेक्ट किया जाएगा।

रिपोर्ट आते तक बच्चों को विशेष निगरानी में रखा जाएगा। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने आंगनबाड़ी केन्द्र और स्कूल भवन समेत ग्राम पंचायत भवन को सेनेटाइज किया गया है।

ये है पूरा मामला

ग्राम बोरीगारका में 2 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और 1 महिला रोजगार सहायक की रिपोर्ट पॉजिटिव है। सोमवार को काउंसिलिंग के बाद तीनों को कोविड हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। कार्यकर्ताओं ने बताया कि उनके संपर्क में कुल 80 बच्चे आए हैं।

इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को खाना पूर्ति कर दावा किया कि 49 बच्चों का सैंपल लिया गया। जबकि वास्तव में 31 लोगों की जांच की गई थी। जिसमें आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के बच्चे शामिल नहीं थे। इसके बाद ग्रामीणों ने गांव मे ही स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था।

राकेश हिरवानी, सभापति कृषि समिति जनपद पंचायत दुर्ग ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची जरुर थी। पहले दिन केवल प्राइमरी कॉटेक्ट में आए लोगों का सैंपल लिया गया। आक्रोश जताने के बाद बुधवार को टीम पहुंची और आंगनबाड़ी के बच्चों का जांच की है। मैंने इस बात की जानकारी सरपंच बोरीगारका से ली।

सीएमएचओ डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम मंगलवार को भी गई थी। बुधवार को भी गई है। पहले दिन 31 लोगों का सैंपल लिया गया। स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई थी इसलिए यह स्थिति बनी। बुधवार को टीम ने आंगनबाड़ी के बच्चों का सैंपल लिया है।

 facebook page    Join Whatsapp

 Subscribe Youtube channel