Home Corona news

कलेक्टर साहब… सिम्स के शवगृह से मेरे पिताजी का पार्थिव शरीर गायब है, मुझे उनके अंतिम दर्शन करना है, कृपया करवा दीजिए।

Whatsapp button

 

सिम्स के शव गृह से सप्ताहभर पहले एक बुजुर्ग का पार्थिव शरीर किसी और को सौंप दिया गया था और अंतिम संस्कार भी कर दिया गया है। परेशान बुजुर्ग के बेटे ने मंत्री कलेक्टर और थाना प्रभारी को पत्राचार कर अपने पिता के अंतिम दर्शन करने की इच्छा जताई है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का हवाला देते हुए बताया है कि आखिर कैसे उनके पिता के इलाज समेत अन्य कामों में लापरवाही बरती गई है।

महाराणा प्रताप नगर राम पार्क में रहने वाले गौतम मजूमदार ने लिखा है कि कोई 1 सप्ताह पहले सुबह 10:30 बजे मेरे पिताजी का दिल का दौरा पड़ने के कारण देहांत हो गया। विधि के मुताबिक दाह संस्कार का काम भारती नगर मुक्तिधाम में करने वाला था।

बिल्हा बीएमओ शुभा गढ़ेवाल कर दाह संस्कार कार्यक्रम स्थगित करने के लिए कहा। आधे घंटे बाद वहां से टीम आई और पिताजी का रैपिड टेस्ट किया गया। इसमें पॉजिटिव मिला। उन्होंने पिताजी के शव को सिम्स में ले जाने की बात कही और बताया कि उन्हें वही रखना होगा। दूसरे दिन सुबह ही आपको अंतिम संस्कार के लिए सूचित किया जाएगा। दूसरे दिन पिताजी का शव गायब हो गया। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री और कलेक्टर को चिट्ठी लिखकर पिताजी के अंतिम दर्शन करने की इच्छा जताई है।

भाजयुमो का ज्ञापन

सिम्स में हुई लाशों की अदला-बदली के मामले में भारतीय जनता युवा मोर्चा के पदाधिकारियों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर घटना को स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही करार दिया है। उन्होंने कहा है भारतीय जनता युवा मोर्चा के पदाधिकारियों ने इन कमियों को सुधारने का आग्रह किया है ऐसा नहीं करने की स्थिति में उन्होंने आंदोलन की चेतावनी भी दी है।

 

Youtube button

 विज्ञापन के लिए संपर्क करें –  8889075555