• 04 AUGUST 2020
  • City news – CN
  • Sports news 

Whatsapp button

IPL 2020 : रायपुर। देशभर में किए जा रहे चीनी उत्पादों के बहिष्कार के बाद भी आइपीएल मैच में चीनी कंपनी को टाइटल प्रायोजक बनाने पर कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स एसोसिएशन (कैट) ने विरोध जताया है।

कैट ने इसके लिए गृह मंत्री अमित शाह और विदेश मंत्री एस जयशंकर को पत्र भी लिखा है। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने बताया कि पत्र में मांग की गई है कि बीसीसीआइ को इस आयोजन के लिए स्वीकृति न दी जाए।

बीसीसीआइ का यह कदम देश में कोरोना को रोकने सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों के खिलाफ होगा। एक ओर तो लोगों को कहा जा रहा है कि चीनी उत्पादों का बहिष्कार करें और आत्मनिर्भर बनें।

दूसरी ओर इस तरह के आयोजनों में चीनी कंपनियों को भी प्रायोजक बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ओलंपिक और विम्बलडन जैसे अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजन कोरोना के कारण रद हो गए है।

लेकिन बीसीसीआइ अपनी जिद में आइपीएल दुबई में आयोजित करवा रहा है और वह चीनी कंपनी को प्रायोजक बनाया जा रहा है।

इसलिए इस आयोजन की ही स्वीकृति नहीं मिलनी चाहिए। इससे देश के लोगों की भावनाओं को भी ठेस पहुंचेगा।

चीनी उत्पादों के बहिष्कार का चल रहा अभियान

कैट द्वारा इन दिनों चीनी उत्पादों के बहिष्कार के लिए देशभर में अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान में संगठन ने फैसला किया है कि इस साल त्योहारों में बाजारों में किसी भी प्रकार से चीनी उत्पाद देखने को नहीं मिलेंगे।

रक्षाबंधन में चीनी राखियां नहीं मंगाई गई। कैट द्वारा देशभर के व्यापारियों से इसका डाटा भी तैयार किया जा रहा है कि त्योहारों में कितना माल खपत होता है,उसके आधार पर देसी उत्पाद ही बाजार में बिके। इसके लिए कैट द्वारा चीनी उत्पादों के बहिष्कार में मास्क व ग्लास भी बांटे जा रहे है।

Whatsapp button

Youtube button

Source link