Treatments of lotus dental clinic birgaon

प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में पिछले 20 वर्षों की तुलना में अधिकतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस तक ज्यादा दर्ज किया जा रहा है।

सर्वाधिक अंतर राजनांदगांव के अधिकतम तापमान में छह डिग्री सेल्सियस तक, जबकि अंबिकापुर में तापमान सामान्य है।

छत्तीसगढ़ से दक्षिण पश्चिम मानसून पूरी तरह से विदा हो चुका है। इसके साथ ही अधिकतम तापमान में भी लगातार बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। दिनभर धूप चुभ रही है और सुबह-रात के समय में हवा में थोड़ी ठंडक भी महसूस हो रही है।

वहीं मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश का मौसम शुष्क बना हुआ है और अगले तीन दिनों तक अधिकतम और न्यूनतम तापमान में कोई विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है।

इसके बाद संभवत: तापमान में गिरावट देखने को मिल सकती है। हालांकि उत्तरी छत्तीसगढ़ और पहाड़ी इलाकों में गुलाबी ठंड का अहसास होना शुरू हो गया है। वहीं राजधानी में आकाश सामान्यत: साफ रहने के आसार हैं, जबकि अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस के करीब रहने की संभावना है।
इसी बीच रविवार को राजधानी सहित प्रदेशभर में मौसम शुष्क रहा और तेज धूप ने लोगों को परेशान किया। वहीं प्रदेश में सर्वाधिक तापमान 37.1 डिग्री सेल्सियस डोंगरगढ़, जबकि न्यूनतम तापमान 17.6 डिग्री सेल्सियस कोरिया में दर्ज किया गया।
अधिकतम तापमान सामान्य से छह डिग्री तक ज्यादा
प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में पिछले 20 वर्षों की तुलना में अधिकतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस तक ज्यादा दर्ज किया जा रहा है। सर्वाधिक अंतर राजनांदगांव के अधिकतम तापमान में छह डिग्री सेल्सियस तक, जबकि अंबिकापुर में तापमान सामान्य है। वहीं न्यूनतम तापमान के मामले में जगदलपुर में औसत तापमान से एक डिग्री कमी देखने को मिल रही है।
रायपुर में पारा औसत से तीन डिग्री ज्यादा
रायपुर में सामान्य औसत की तुलना में अधिकतम तापमान तीन डिग्री ज्यादा है, जबकि न्यूनतम औसत से दो डिग्री कम है। वहीं अंबिकापुर में अधिकतम तापमान औसत के आधार पर सामान्य है। यहां अधिकतम और न्यूनतम दोनों ही तापमान में किसी प्रकार का औसत से अंतर नहीं देखने को मिल रहा है।