Treatments of lotus dental clinic birgaon

विधानसभा चुनाव को लोकतंत्र का सबसे बड़ा त्योहार है। आचार संहिता लागू होने के उपरांत पुलिस को सख्ती से इसका पालन कराया जाना होता है।

इस दौरान पुलिस की विजिब्लिटी फ्लैग मार्च व अन्य प्रत्यक्ष कार्यवाहियों के दौरान दिखाई पड़ती है।

HIGHLIGHTS

  1. रेंज स्तरीय पुलिस अधिकारियों की हुई एक दिवसीय निर्वाचन प्रशिक्षण कार्यशाला
  2. विधानसभा निर्वाचन प्रक्रिया
  3. बीते चुनावों में ये अपराध दर्ज किया गया

आचार संहिता का पालन, शिकायतों पर तत्काल कार्रवाई, शिकायत प्राप्त होने की स्थिति में थाना प्रभारी, पैट्रोलिंग पार्टी को मौके पर पहुंचने में विलंब न करने की समझाइश दी। पुलिस महानिरीक्षक द्वारा उपस्थित पुलिस अधिकारियों को रेंज

स्तरीय मास्टर ट्रेनर के रूप में 11 से 14 अक्टूबर तक जिले के सभी राजपत्रित अधिकारियों, निर्वाचन नोडल अधिकारी, डीएसबी प्रभारी, थाना चौकी में पदस्थ सभी अधिकारी व कर्मचारियों को प्रशिक्षण प्रदान करें। ये बातें आइजी अजय यादव ने कही।

विधानसभा निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान पुलिस अधिकारी व कर्मचारी अपने उत्तरदायित्व का भलीभांति निर्वाहन कर सकें। भयमुक्त वातारण मतदाता को प्राप्त हो, इसके लिए बिलासपुर रेंज के जिलों के पुलिस राजपत्रित अधिकारियों, थाना

प्रभारियों, उप निरीक्षक, सहायक उप निरीक्षक स्तर के अधिकारियों का प्रशिक्षण सोमवार को जल संसाधन परिसर स्थित प्रार्थना सभा भवन में आयोजित किया गया।

पुलिस महानिरीक्षक अजय कुमार यादव ने कहा कि वल्नरेबल मैपिंग की कार्यवाही में सुधार करने, एफएसटी/एसएसटी टीम में लगाए जाने वाला बल प्रविधानानुसार लगाएं।

निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान पुलिस को प्रतिबंधात्मक धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई, अवैध शराब, अवैध हथियार, गुंडा बदमाशों पर कार्रवाई, वाहन चेकिंग, स्थायी, गिरफ्तारी वारंटों की तामिली से संबंधित निरंतर करने के साथ ही मतदान केन्द्रों का भ्रमण चिन्हांकन इत्यादि की कार्रवाई करने कहा।

छत्तीसगढ़ पुलिस निर्वाचन निष्पक्षता से कराने के लिए सक्षम हैं। छोटे-छोटे पाइंट्स छूट जाते हैं, उस पर प्रशिक्षण के दौरान प्रश्न, प्रतिप्रश्न करने स्पष्ट करने कहा गया।

बीते चुनावों में ये अपराध दर्ज किया गया था

आइजी यादव द्वारा पूर्व संपन्न हुए चुनावों में घटित मामलों का प्रकाश डालते हुए कहा गया कि बिलासपुर रेंज अंतर्गत विधान चुनाव वर्ष 2013 के दौरान कुल 44 अपराध, विधानसभा निर्वाचन 2018 के दौरान कुल 68 अपराध घटित हुए।

इसी प्रकार लोकसभा निर्वाचन 2019 के दौरान 10 अपराध घटित हुए थे। इसी प्रकार वर्ष 2018 विधानसभा चुनाव में निर्वाचन से संबंधित जिला बिलासपुर में कुल छह अपराध घटित हुए थे, जिनमें से मुख्य रूप से आचार संहिता का उल्लंघन, मतदाताओं को पैसा, साड़ी इत्यादि का लालच देकर लुभाने से संबधित अपराध रहे हैं।

जिला कोरबा में कुल सर्वाधिक 29 अपराध घटित हुए थे। इसी प्रकार लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत जिला बिलासपुर में वर्ष 2013 में कुल 10 मामलों पर कार्रवाई की गई थी।

निर्वाचन प्रशिक्षण में रेंज के जिलों से कुल 02 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, 15 उप पुलिस अधीक्षक, 29 निरीक्षक, 39 उप निरीक्षक, 40 सहायक उप निरीक्षक, कुल 125 अधिकारी उपस्थित रहे।

निष्पक्ष होकर पुलिस करें काम

एसपी संतोष सिंह बिलासपुर एसपी संतोष कुमार सिंह ने कहा कि चुनाव के दौरान पुलिस को निष्पक्ष चुनाव कराया जाने के साथ निष्पक्ष दिखना आवश्यक होता है। पुलिस को अपना आचरण व्यवहार ऐसा प्रदर्शित नहीं करना चाहिए, जिससे यह प्रतीत हो कि वह निष्पक्ष नहीं है।

विधानसभा चुनाव को लोकतंत्र का सबसे बड़ा त्योहार है। आचार संहिता लागू होने के उपरांत पुलिस को सख्ती से इसका पालन कराया जाना होता है। इस दौरान पुलिस की विजिब्लिटी फ्लैग मार्च व अन्य प्रत्यक्ष कार्यवाहियों के दौरान दिखाई पड़ती है।

निर्वाचन से संबधित शिकायत या अन्य शिकायतों पर जांच करने तत्काल करना है। निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन के लिए जारी नए एप की जानकारी भी दी है।