Treatments of lotus dental clinic birgaon

छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) की ओर से 440 महिला पर्यवेक्षक पदों के लिए प्रदेशभर में भर्ती परीक्षा ली गई। अलग-अलग दो पालियों में परीक्षा हुई।

HIGHLIGHTS

  1. 440 महिला पर्यवेक्षक पदों के लिए प्रदेशभर में हुई भर्ती परीक्षा
  2. जीके और योजनाओं के प्रश्न सरल, गणित के प्रश्न रहे कठिन
  3. भर्ती परीक्षा में दो लाख 40 हजार अभ्यर्थियों ने हिस्सा लिया

छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) की ओर से 440 महिला पर्यवेक्षक पदों के लिए प्रदेशभर में भर्ती परीक्षा ली गई। अलग-अलग दो पालियों में परीक्षा हुई। प्रथम पाली में 220 पदों के लिए खुली भर्ती परीक्षा सुबह 10 बजे से हुई, जो दोपहर 12:15 बजे तक हुई। परीक्षा में लगभग 80 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने हिस्सा लिया। वही दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर दो बजे से शुरू होकर सवा चार बजे तक चली।

ये परीक्षा भी 220 महिला पर्यवेक्षक(परिसीमित) पदों के लिए हुई। जिसमें लगभग 70 प्रतिशत अभ्यर्थियों ने हिस्सा लिया। 220 महिला पर्यवेक्षक पदों के लिए हुई खुली भर्ती के लिए लगभग तीन लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। परीक्षा में दो लाख 40 हजार अभ्यर्थियों ने हिस्सा लिया। वहीं 220 पदों के लिए हुई परिसीमित महिला पर्यवेक्षक परीक्षा के लिए लगभग 40 हजार लोगों ने आवेदन किया था, जिसमें लगभग 30 हजार अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी।परीक्षा देकर निकले अभ्यर्थियों ने कहा कि प्रश्नपत्र में बहुत सरल प्रश्न पूछे गए थे। जिसकी वजह से प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है।

महिला पर्यवेक्षक खुली भर्ती में इस तरह के प्रश्न पूछे गए-

– पोषण 2.0 अंतर्गत गंभीर कुपोषित बच्चों के पूरक पोषण आहार के वित्तीय मापदंड क्या है?

– प्रोटीन एनर्जी कुपोषण के कारण कौन सी बीमारी होती है?

– राज्य की मुख्यमंत्री कन्या विवाह में व्यय मापदंड क्या है?

– किस जिले में लड़कियों के लिए संप्रेक्षण गृह नहीं है?

– 1857 के विद्रोह के समय मुगल शासक कौन था?

– छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी भत्ता योजना-2023 के संबंध में कौन सा कथन सही नहीं है?

– वर्तमान में भारत में कौन सी पंचवर्षीय योजना चल रही है?

– वर्तमान में छत्तीसगढ़ में कितने राष्ट्रीय उद्यान है?

– बात करना के छत्तीसगढ़ी पर्यायवाची होही?

– छत्तीसगढ़ी में ओंगना शब्द का प्रयोग कहा होता है?

एक पद के लिए लगभग एक हजार अभ्यर्थी

प्रथम पाली में हुई 220 पदों के लिए हुई महिला पर्यवेक्षक पद में चयन के लिए अभ्यर्थियों के बीच कड़ी स्पर्धा है।एक पद के लिए लगभग एक हजार अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी है। 220 पदों के लिए हुई भर्ती परीक्षा में लगभग दो लाख 40 हजार अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी है। इस लिहाज से एक पद के लिए एक हजार अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए। प्रदेश में हुई रही भर्ती परीक्षाओं में लगातार अभ्यर्थियों की संख्या बढ़ती जा रही है। पिछले दिनों श्रम विभाग में सहायक श्रमपदाधिकारी, श्रम उपनिरीक्षक के अलग-अलग पदों के लिए भर्ती हुई थी, जिसमें भी बहुत ज्यादा संख्या में अभ्यर्थियों के आवेदन मिले थे।

गणित के प्रश्नों को हल करने में उलझे अभ्यर्थी

परीक्षा देकर निकल अभ्यर्थियों ने कहा कि पेपर का स्तर सामान्य रहा, लेकिन गणित के प्रश्नों को हल करने में बहुत समय लगा।महिला एवं बाल विकास विभाग से संबंधित योजनाओं के प्रश्न बहुत सरल रहे, लेकिन मानसिक योग्यता के प्रश्नों को हल करने में भी अभ्यर्थियों को परेशानी आई।

परीक्षा देकर बाहर निकले अभ्यर्थियों ने कहा-

1. वर्षा फरिकर ने कहा कि पेपर का स्तर ठीक था, लेकिन गणित को प्रश्नों को हल करने में कठिनाई हुई। माइनस मार्किंग होने के कारण जो प्रश्न अच्छे से आते थे वहीं किया है।भर्ती के लिए कटआफ ज्यादा रहेगा।

2.अपेक्षा सिंह ने कहा कि पेपर में विभाग की योजनाओं से संबंधित प्रश्न बहुत सरल थे, लेकिन गणित के प्रश्न कठिन थे।सामान्य ज्ञान के प्रश्न भी सरल रहे। ओवरआल पेपर को देखें तो पेपर ठीक ही आया था।

3. खिलेश्वरी बर्मन ने कहा कि पेपर को पांच भाग में बांटा गया था। जिसमें छत्तीसगढ़ी भाषा वाला भाग भी कठिन था।पेपर में ठेठ छत्तीसगढ़ी आने के कारण शहरी क्षेत्राें में रहने वाले अभ्यर्थियों को समझने में दिक्कत हुई।

4. मेघा घोष ने कहा कि पेपर सरल था। सामान्य ज्ञान और सामान्य मानसिक योग्यता के प्रश्न हल करने में थोड़ी सी दिक्कत हुई।अंग्रेजी का सेक्शन भी ठीक था। भर्ती के लिए कटआफ ज्यादा जाएगा।