Treatments of lotus dental clinic birgaon

प्रदेश के इंजीनियरिंग कालेजों में प्रथम चरण की प्रवेश प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। छात्रों को आवंटित सीटों में से 69.04 प्रतिशत छात्रों ने प्रवेश लिया है।

HighLights

  • सबसे ज्यादा 81 प्रतिशत प्रवेश शासकीय इंजीनियरिंग कालेज रायपुर में हुए

प्रदेश के इंजीनियरिंग कालेजों में प्रथम चरण की प्रवेश प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। छात्रों को आवंटित सीटों में से 69.04 प्रतिशत छात्रों ने प्रवेश लिया है। शिक्षा सत्र 2023-24 के अनुसार, प्रदेश के 29 इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश हो रहे हैं। मैनेजमेंट कोटा को छोड़कर राज्य में इंजीनियरिंग की 8,574 सीटें है, जिसमें 5,011 सीटें आवंटित हुई थी, आवंटित सीटों में से 3,478 सीटों में छात्रों ने प्रवेश लिया है। तीनों सरकारी कालेज की सभी सीटें पहले राउंड में अलाट हो गई थीं, लेकिन सभी में दाखिले नहीं हुए।

शासकीय इंजीनियरिंग कालेज (जीईसी) रायपुर की 81 फीसदी, जीईसी बिलासपुर की 67 फीसदी और जीईसी जगदलपुर की 56 फीसदी सीटें भरी हैं। शासकीय इंजीनियरिंग कालेज के अलावा निजी कालेजों के प्रति भी छात्रों का रुझान दिखा।

जानकारों का कहना है कि पहले राउंड में प्रवेश को लेकर स्थिति अच्छी है, इसलिए संभावना है कि इस बार ज्यादा एडमिशन होंगे। इंजीनियरिंग काउंसिलिंग के दूसरे राउंड के लिए रजिस्ट्रेशन 26 तक किए जा सकते हैं। शासकीय इंजीनियरिंग कालेज रायपुर में 294 सीटें हैं। यहां 237 सीटों में प्रवेश हो चुका है। सिविल की 42 में से 40 सीटें भर गई हैं।

इसी तरह कंप्यूटर साइंस की 63 में से 49 सीटों पर प्रवेश हो चुका है।पहले राउंड के बाद यहां सबसे अधिक प्रवेश हुए हैं। इसी तरह गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कालेज बिलासपुर की 273 सीटों में से 182 में प्रवेश हुए हैं। यहां भी सिविल की 21 में से 20 सीटें भरी हैं। इसी तरह गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कालेज जगदलपुर की 282 सीटों में से 159 सीटें भर गई हैं। यहां सिविल में 63 में से 47 पर एडमिशन हुए हैं।

राज्य के गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश की स्थिति

शासकीय कालेज, रायपुर

ब्रांच सिविल, सीट- 42, प्रवेश- 40

ब्रांच सीएस, सीट- 63, प्रवेश- 49

ब्रांच इले. एंड इलेक्ट्रॉनिक, सीट- 63, प्रवेश- 53

ब्रांच इले. एंड टेलीकम्युनिकेशन, सीट- 63, प्रवेश- 46

ब्रांच मैकेनिकल, सीट- 63, प्रवेश- 49

कुल- 294 सीट, एडमिशन- 237

शासकीय कालेज, बिलासपुर

ब्रांच सिविल, सीट- 21, प्रवेश- 20

ब्रांच सीएस, सीट- 42, प्रवेश- 31

ब्रांच इले. एंड इलेक्ट्रॉनिक, सीट- 63, प्रवेश- 48

ब्रांच इले. एंड टेलीकम्युनिकेशन, सीट- 42, प्रवेश- 24

ब्रांच मैकेनिकल, सीट- 21, प्रवेश- 14

ब्रांच आईटी, सीट- 42, प्रवेश- 31

ब्रांच माइनिंग, सीट- 21, प्रवेश- 14

कुल- 273 सीट, एडमिशन- 182

शासकीय कालेज, जगदलपुर

ब्रांच सिविल, सीट- 63, प्रवेश- 47 ब्रांच इले. एंड इलेक्ट्रॉनिक, सीट- 32, प्रवेश- 17ब्रांच इले. एंड टेलीकम्युनिकेशन, सीट- 60, प्रवेश- 28 ब्रांच मैकेनिकल, सीट- 32, प्रवेश- 16ब्रांच आईटी, सीट- 32, प्रवेश- 16 ब्रांच माइनिंग, सीट- 63, प्रवेश- 35 कुल- 282 सीट, एडमिशन- 159

मैनेजमेंट कोटा को छोड़कर बी. फार्मा, डी. फार्मा की इस बार 5,457 सीटें हैं। पहले राउंड में इन दोनों कोर्स की 4,070 यानी करीब 75 फीसदी सीटें आवंटित की गई हैं। जानकारों का कहना है कि फार्मेसी की डिमांड बढ़ी है, खासकर डी.फार्मा की, इसलिए संभावना है कि इस बार फार्मेसी की अधिकांश सीटें भर जाएंगी।

पिछली बार फार्मेसी की काउंसिलिंग देर से हुई थी। इसका असर प्रवेश पर पड़ा था। कई कालेजों में सीटें खाली रह गई थीं। इसी तरह एमसीए की 464 में से 272 सीटें अलाट हुई हैं। एमबीए की 1,421 में से 610 सीटों का आवंटन हुआ है। इनमें प्रवेश 25 अगस्त तक होंगे। फार्मेसी, एमसीए, एमबीए जैसे कोर्स में एडमिशन के दूसरे राउंड के तहत रजिस्ट्रेशन 26 अगस्त से शुरू होंगे।

बीए बीएड में प्रवेश के लिए रजिस्ट्रेशन आज से

बीए बीएड पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए 24 अगस्त यानी आज से रजिस्ट्रेशन शुरू हो रहे हैं। वहीं बीएससी बीएड के लिए 28 अगस्त से छात्र रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे। बीएबीएड में आठ सितंबर से छात्रों को आवंटित कालेजों में प्रवेश शुरू होगे, वहीं बीएससी बीएड में 13 सितंबर से छात्र आवंटित कालेज में प्रवेश ले सकता है।