Home Chhattisgarh news ठगों के निशाने में बुजुर्ग ; गृहिणी और सिंगल महिलाएं ; सात...

ठगों के निशाने में बुजुर्ग ; गृहिणी और सिंगल महिलाएं ; सात महीने में 825 से ज्यादा शिकायतें दर्ज

Treatments of lotus dental clinic birgaon

आनलाइन ठगी के मामलों में पुलिस की सफलता दर बहुत कम है। पिछले साल 4100 आनलाइन ठगी की शिकायतें दर्ज की गई। ठगों ने चार करोड़ से ज्यादा की रकम खातों से पार कर दी।

HighLights

  • जालसाज अब बुजुर्गों, गृहिणी और सिंगल महिलाओं को निशाना बना रहे हैं।
  • पिछले सात माह में केवल रायपुर जिले में ही 825 से ज्यादा अनलाइन ठगी की शिकायतें सामने आई हैं।
  • बैंक कर्मचारी कभी भी फोन पर डिटेल्स नहीं मांगते हैं।

रायपुर। Raipur Crime News ज्यादा रकम वापसी या महंगे सामान देने का झांसा देकर आनलाइन ठगी करने वालों का ट्रेंड अब बदल गया है। ऐसे जालसाज अब बुजुर्गों, गृहिणी और सिंगल महिलाओं को निशाना बना रहे हैं। इंटरनेट मीडिया में पहले दोस्ती फिर बदनाम करने की धमकी देकर इनसे लाखों रुपये की वसूली की जा रही है।

पिछले सात माह में केवल रायपुर जिले में ही 825 से ज्यादा ठगी की शिकायतें सामने आई हैं। इसमें तीन करोड़ से ज्यादा की ठगी की गई। पुलिस अब तक सिर्फ 50 लाख रुपये ही रिकवर कर पाई है। घर की गृहिणी और सिंगल महिलाओं से पहले इंटरनेट मीडिया में दोस्ती की जाती है। इसके बाद उनकी फोटो या वीडियो बना लिया जाता है।

राजधानी रायपुर में आनलाइन ठगी के ऐसे कई केस हैं जिनमें महिलाओं ने बदनामी के डर से ठगों को लाखों रुपये दे दिए। इसी तरह सरकारी नौकरी से रिटायर होने वाले बुजुर्गों को पीएफ या एलआइसी की रकम दिलाने का झांसा दिया जाता है। अधिकतर बार युवतियों से वीडियो काल करवाकर उन्हें ट्रैप किया जाता है।

जैसे ही वीडियो बनता उनसे बड़ी रकम मांगी जाती। शहर और समाज में बदनामी के डर से ऐसे बुजुर्ग ठगों को लाखों रुपये दे देते हैं। ठग इस तरह के लोगों को आसानी से अपने झांसे में ले लेते हैं। क्योंकि इनमें ज्यादातर किसी को भी कुछ भी बताने से डरते हैं।

केस:1

लंदन से गिफ्ट भेजने का झांसा, 25 लाख की ठगी

शिवानंद नगर की 48 साल की महिला की दोस्ती इंटरने मीडिया के जरिये लंदन के एक युवक से हो गई। दोनों के बीच चैट पर बातचीत होने लगी। आरोपित ने विदेश से गिफ्ट और करंसी भेजने का झांसा दिया। पार्सल छुड़वाने के नाम पर महिला से 25 लाख रुपये ठग लिए। पूरा मामला खमतराई थाना क्षेत्र का है।

केस: 2

केवाईसी अपडेट करने का झांसा देकर ठगी

– रिटायर बिजली अधिकारी से 60 लाख रुपये की ठगी हो गई। ठगों ने उन्हें केवाईसी अपडेट करने का झांसा दिया। उनसे खाते की जानकारी ली और बाद में रिटायरमेंट का पूरा पैसा निकाल लिया। पुलिस पांच लाख रुपये ही रिकवर कर पाई। जिस नाइजीरियन ने ठगी की थी उससे पैसा मिला ही नहीं।

केस: 3

बातों में बुजुर्ग को उलझा कर उड़ाए रकम

– पंडरी थाना क्षेत्र में बुजुर्ग के खाते से 14 लाख रुपये पार कर दिए गए। ठग ने फोन पर अपनी बातों में बुजुर्ग को उलझा लिया और खाते से रकम उड़ा ली। प्रार्थी के पास एक ओटीपी आया था। उन्होंने अपने बैंक में जाकर कंपलेन की, तब बैंक वालों ने फोन नंबर चेंज करने की सलाह दी। शुक्रवार को बुजुर्ग ने अपने पेटीएम में मोबाइल नंबर बदलने का प्रयास किया।

कैसे करें बचाव

– किसी भी तरह के आफर और लालच में न आएं।

– अनजान व्यक्ति से फोन पर बात कर उसके बहकावे में न आएं।

– अच्छी तरह जांच करने के बाद ही किसी भी बैंक खाते में राशि डालें।

– फेसबुक, टि्वटर आइडी का पासवर्ड स्ट्रांग रखें, सरल पासवर्ड न रखें।

– कोई पैसे की मांग करता है तो पहले जांच लें या मैसेज करने वाले से फोन पर संपर्क करें।

– बैंक कर्मचारी कभी भी फोन पर डिटेल्स नहीं मांगते हैं।

– अपने आधार कार्ड और पैनकार्ड की जानकारी किसी को न भेजें।

– अनजान नंबर से वीडियो काल से बचें।

चार करोड़ से ज्यादा की ठगी 61 लाख रुपए ही वापस हुए

आनलाइन ठगी के मामलों में पुलिस की सफलता दर बहुत कम है। पिछले साल 4100 आनलाइन ठगी की शिकायतें दर्ज की गई। ठगों ने चार करोड़ से ज्यादा की रकम खातों से पार कर दी। पुलिस वाले इसमें सिर्फ 61 लाख रुपये लोगों को वापस लौटा पाए।

रायपुर साइबर सेल निरीक्षक गौरव तिवारी ने बताया कि ठगों से बचने के लिए सतर्क रहना होगा। कस्टमर केयर नंबर, वीडियो गैंग सहित मंहगे गिफ्ट के झांसे में लोग आ जाते हैं। रकम भी गवां देते हैं।

Verified by MonsterInsights