Treatments of lotus dental clinic birgaon

Scam in CGPSC: छत्‍तीसगढ़ लोक सेवा आयोग (पीएससी) में 18 नियुक्तियों को लेकर उठे सवाल पर राज्‍य सरकार ने बयान जारी किया है।

छत्‍तीसगढ़ लोक सेवा आयोग (पीएससी) में 18 नियुक्तियों को लेकर उठे सवाल पर राज्‍य सरकार ने बयान जारी किया है। राज्‍य सरकार ने कहा, शासन इस प्रकरण की जांच स्वयं करेगी। जांच के बाद हाई कोर्ट के समक्ष जवाब पेश करेंगे।

साथ ही जिन व्यक्तियों पर आरोप लगा है और उनकी नियुक्ति नहीं हुई है, उसको आगे अंतिम रूप नहीं दिया जाएगा। जबकि जिनकी नियुक्तियां हो चुकी है वह यथास्थिति कोर्ट के आदेश के अधीन रहेगी।

कोर्ट ने इस वक्तव्य को रिकार्ड पर लेते हुए याचिका की अगली सुनवाई एक सप्ताह के बाद रखी है। साथ ही कोर्ट ने राज्य सरकार तथा पीएससी को निर्देशित किया है कि वे जो सूचीं याचिकाकर्ता के द्वारा पेश की गई है उसके तथ्यों की सत्यता के संबंध में भी जांच कर लें।

साथ ही याचिकाकर्ता को निर्देशित किया गया है कि वह चयनित व्यक्तियों को पक्षकार बनाये और अपनी याचिका में निर्धारित संशोधन कर पेश करें। कोर्ट ने याचिकाकर्ता को भी सचेत किया है कि अगर याचिकाकर्ता की जानकारी गलत पाई गई तो उसके विरुद्ध भी न्यायोचित कार्रवाई की जाएगी।

पीएससी में 18 नियुक्तियों को लेकर हाई कोर्ट में सुनवाई

बतादें कि छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए पूर्व मंत्री व बीजेपी विधायक ननकीराम कंवर ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की है। मामले की सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस की डिवीजन बेंच ने गहरी नाराजगी जताई है।

चीफ जस्टिस ने पैरवी कर रहे वकील से पूछा है कि एक ही अधिकारी के चार-पांच रिश्तेदारों का कैसे चयन हो सकता है। मामले में हाई कोर्ट ने शासन से जवाब मांगा है।