Treatments of lotus dental clinic birgaon

राजधानी रायपुर में एक बेहद शर्मनाक मामला सामने आया है। यहां हैवानियत की हदों को पार करते हुए आठ दरिंदों ने अस्‍पताल के पास दो युवतियों के साथ जबरन सामूहिक दुष्कर्म की घिनौनी वारदात को अंजाम दिया है।

राजधानी रायपुर में एक बेहद शर्मनाक मामला सामने आया है। यहां हैवानियत की हदों को पार करते हुए 10 दरिंदों ने दो सगी बहनों से जबरन सामूहिक दुष्कर्म की घिनौनी वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने इस मामले में 10 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। मामले में आरोपितों से पूछताछ की जा रही है।

बतादें कि घटना मंदिर हसौद थाना क्षेत्र के गोढ़ी रोड की है। जानकारी के अनुसार दोनों पीड़िता रक्षाबंधन त्‍योहार मनाकर महासमुंद से एक युवक के साथ रायपुर लौट रही थीं। गुरुवार रात लगभग 9 से 10 बजे के बीच जैसे ही दोनों पीड़िता और युवक गोढ़ी रोड के पास रिम्‍स अस्‍पताल तक पहुंचे।

राखी बांधकर घर आ रही युवतियों को दरिंदों ने बनाया हवस का शिका

इसी दौरान कुछ युवकों ने दोनों युवतियों और युवक को घेरकर रास्‍ता रोक लिया। इसके बाद बदमाशों ने पहले युवक की पिटाई की। फिर दोनों युवतियों का मुंह दबाकर सुनसान जगह ले गए, जहां दरिंदों ने दोनों युवतियों के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म की वारदात को अंजाम दिया।

मामले में पुलिस ने दस आरोपितों को किया गिरफ्तार

घटना के बाद दोनों पीड़िता डरी सहमी देर रात अपने घर पहुंची और घटना की जानकारी घरवालों को दी, जिसके बाद स्‍वजनों ने इस मामले की शिकायत दर्ज कराई। फिलहाल घटना के संबंध में पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर दस आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। बता दें कि एक तरफ राष्ट्रपति के आने के बाद शहर में चारों ओर पुलिस लगी हुई थी। वहीं दूसरी ओर दुष्कर्म की वारदात में सुरक्षा पर सवाल भी खड़े कर दिए हैं।

ये है आरोपितों के नाम

पूनम ठाकुर, घनश्याम निषाद, लव तिवारी, नयन साहू, केवल वर्मा उर्फ़ सोनू, देवचरण धीवर, लक्ष्मी ध्रुव, प्रहलाद साहू, कृष्णा साहू, युगल किशोर। इनमें से 5 आरोपित पिपरहट्टा गांव के हैं और शेष आरोपित बोरा, उमरिया और टेकारी गांव के हैं।

पूनम ठाकुर है मुख्य आरोपित

मुख्य आरोपित पूनम ठाकुर आदतन अपराधी है। इसके विरुद्ध थाना मंदिर हसौद और आरंग में कुल 5 मामले पंजीबद्ध है। पूनम ठाकुर को वर्ष 2019 में हत्या के मामले में रायपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेजा था। इसके बाद वर्ष 2022 में बलात्कार के मामले में पूनम की गिरफ्तारी हुई थी। आरोपित पूनम 17 अगस्त 2023 को जमानत पर रिहा हुआ है। जेल से छूटने के कुछ ही दिन के अंदर फिर से घिनौना कृत्य किया है।