Treatments of lotus dental clinic birgaon

दुबई में आनलाइन सट्टे की ट्रेनिंग ले रहे छत्तीसगढ़ के 70 युवा, दो दिन पहले पकड़े गए आरोपित ने उगले कई राज

छत्तीसगढ़ के 70 युवा अनलाइन सट्टा एप की ट्रेनिंग लेने के लिए दुबई गए हुए हैं। पुलिस की कार्रवाई में यह बात सामने आई है।

रायपुर। छत्तीसगढ़ के 70 युवा अनलाइन सट्टा एप की ट्रेनिंग लेने के लिए दुबई गए हुए हैं। रायपुर पुलिस ने आनलाइन महादेव एप और अन्ना रेड्डी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। इसमें 23 आरोपितों को अलग-अलग जगह से पकड़ा गया है। मुख्य आरोपित नवीन अग्रवाल, मधुकर सिन्हा और करण सिंग को रिमांड में लेकर पूछताछ की गई। इसमें कई नाम सामने आए हैं। हालांक, पुलिस ने उन नामों का राजफाश नहीं किया है।

दो दिन पहले पकड़े गए आरोपित सौरभ शुक्ला ने उगला राज

जोगी कांग्रेस का प्रदेश महासचिव नवीन विगत एक साल से पश्चिम बंगाल के पैनल को चला रहा था। मधुकर और करण ओडिशा और विशाखापट्टनम के पैनल को चला रहे थे। एक अन्य गिरफ्तार आरोपित सौरभ शुक्ला, जो दुर्ग सुपेला का रहने वाला है। वह वर्ष-2021 में दुबई गया था। वहां उसने तीन महीने ट्रेनिंग भी ली। उसने पूछताछ में बताया कि 70 से ज्यादा युवा दुबई में ट्रेनिंग ले रहे हैं। यश नाम के दो लड़के हैं, जिनके पास वह काम करता था। एक रायपुर और दूसरा जबलपुर का है।

सट्टा कारोबार से जुड़े अब तक 500 से ज्यादा लोगों गिरफ्तार

उसने बताया कि युवाओं का ट्रेनिंग पूरा होने के बाद नए को बुलाया जाता है। महादेव सट्टा एप के जरिए बीते तीन वर्ष में 500 करोड़ रुपये से अधिक की अवैध कमाई की गई है। इसके सरगना दुर्ग के सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल हैं। इनके नाम सोमवार को लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। सट्टा का कारोबार करने वाले 150 से अधिक लोग पुलिस की गिरफ्त में हैं। इनमें छत्तीसगढ़ के अलावा आंध्र प्रदेश, ओडिशा और महाराष्ट्र के आरोपित भी शामिल हैं।

20 से 30 वर्ष के युवा जद में

अब तक पुलिस की कार्रवाई में पकड़े गए युवाओं की उम्र 20 से 30 वर्ष की है। रोजगार देने के नाम पर काम पर रखा जाता है। अब तक 500 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी पुलिस ने की है। इसमें छत्तीसगढ़ के अलावा बिहार, हरियाणा, आंध्रप्रदेश, मप्र, ओडिशा सहित कई राज्यों के युवा शामिल हैं।

जूस और टायर की दुकान चलाते थे सट्टा किंग

सट्टा किंग के नाम से मशहूर सौरभ चंद्राकर भिलाई के हाउसिंग बोर्ड में रहता था। उसकी भिलाई के नेहरू नगर में जूस की दुकान थी। वहीं दूसरे सट्टा किंग रवि उप्पल की बात करें तो वो दक्षिण गंगोत्री सुपेला में दोहिया वाहन के टायर की दुकान चलाता था। सौरभ चंद्राकर के पिता रमेश चंद्राकर भिलाई निगम में पंप आपरेटर थे। वर्तमान में दोनों दुबई में रहकर आनलाइन सट्टे का कारोबार चला रहे हैं। दोनों के स्वजन भी दुबई में हैं। रवि उप्पल के बच्चे लंदन में पढ़ाई कर रहे हैं। रवि और सौरभ ने निजी प्लेन भी खरीदा है।

जीजा ने तैयार किया गेमिंग एप

बताया जाता है कि रवि उप्पल के जीजा आस्ट्रेलिया में रहते हैं। वे पेशे से इंजीनियर हैं। उनके द्वारा ही गेमिंग एप तैयार किया गया है। रवि और सौरभ चंद्राकर ने वर्ष- 2017 में इसकी शुरुआत की। समय के साथ उन्होंने एप को अपडेट किया। सभी आनलाइन गेमिंग एप उसमें चलते हैं।

रायपुर एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने कहा, रवि और सौरभ का लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया है। पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। मुख्य आरोपितों को पकड़ने से लेकर नीचे पैनल में काम करने वालों को पकड़ा जा रहा है। कितने युवा दुबई में हैं, इसकी जानकारी जुटाई जा रही है।