Treatments of lotus dental clinic birgaon

भाजपा की दूसरी सूची की सुगबुगाहट के बीच सांसद व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव अचानक आज दिल्‍ली रवाना हो गए।

भाजपा की दूसरी सूची की सुगबुगाहट के बीच सांसद व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव अचानक आज दिल्‍ली रवाना हो गए। खबरों के अनुसार पार्टी के शीर्ष नेताओं के बुलावे पर प्रदेश अध्‍यक्ष साव दिल्‍ली रवाना हुए।

साव के साथ भाजपा प्रदेश संगठन के कुछ और नेताओं को भी दिल्‍ली बुलाया गया है। खबरों के अनुसार भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व विधानसभा चुनाव की उम्‍मीदवारों को लेकर एक बैठक करने जा रहा है।

इधर, अरुण साव को अचानक दिल्‍ली बुलाए जाने के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चाएं तेज हो गई हैं। बताया जा रहा है कि संगठन में धरसींवा, आरंग सहित कई अन्‍य विधानसभा सीटों पर टिकट बंटवारे को लेकर नाराजगी देखी जा रही है।

माना जा रहा है कि प्रदेश अध्‍यक्ष अरुण साव सहित प्रदेश के संगठन के नेताओं के साथ इसे लेकर चर्चा होगी। इस बैठक में भाजपा प्रदेश प्रभारी ओम माथुर और प्रदेश सह चुनाव प्रभारी मनसुख मांडविया भी शामिल हो सकते हैं।

भाजपा विधायकों का नहीं कटेगा टिकट
प्रदेश में भाजपा चुनाव मैदान में केंद्रीय मंत्री और सांसदों को उतारेगी। वहीं सभी 13 विधायकों को भी टिकट देगी। दिल्ली में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया है।
पार्टी सूत्रों के अनुसार इस बार के चुनाव में 35 से 40 प्रतिशत नए चेहरे हो सकते हैं। भाजपा जल्द ही प्रत्याशियों की दूसरी सूची जारी करने वाली है, जबकि 21 सीटों के प्रत्याशियों की सूची वह पहले ही जारी कर चुकी है।
भाजपा ने अपनी पहली सूची में दुर्ग के सांसद विजय बघेल को पाटन विधानसभा क्षेत्र से और पूर्व राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम को रामानुजगंज सीट से उम्मीदवार घोषित किया है।
वहीं दिल्ली बैठक के बाद केंद्रीय राज्यमंत्री रेणुका सिंह, सांसद व प्रदेश भाजपाध्यक्ष अरुण साव और राज्यसभा सदस्य सरोज पांडेय को टिकट मिलना लगभग तय है। बता दें कि भाजपा ने मध्य प्रदेश में भी यही फार्मूला अपनाया है।