Treatments of lotus dental clinic birgaon

छत्‍तीसगढ़ के इंजीनियरिंग और पालीटेक्निक कालेजों में शिक्षा सत्र 2023-24 के लिए आज से प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो रही है। गुरुवार को कालेज और सीटों का आबंटन हो चुका है।

HighLights

  • इस वर्ष बदले हुए नियमों के तहत छात्रों को मिलेगा प्रवेश
  • पीईटी में शून्‍य अंक पाने वाले छात्रों को भी मिल जाएगा प्रवेश
  • इस वर्ष पिछले साल की तुलना में लगभग दो हजार सीटें कम

छत्‍तीसगढ़ के इंजीनियरिंग और पालीटेक्निक कालेजों में शिक्षा सत्र 2023-24 के लिए आज से प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो रही है। गुरुवार को कालेज और सीटों का आबंटन हो चुका है। छात्रों को आबंटित कालेज में जाकर प्रवेश लेना है। राज्य में इस बार साढ़े नौ हजार सीटों में प्रवेश दिया जाएगा।

बदले हुए नियमों के अनुसार दिए जाएंगे प्रवेश

प्रदेश में पांच इंजीनियरिंग कालेज बंद हाेने के वजह से पिछले वर्ष की तुलना में लगभग दो हजार सीटें कम है। इंजीनियरिंग कालेजों में इस वर्ष बदले हुए नियमों के अनुसार प्रवेश दिए जाएंगे। अभी तक इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश के लिए प्री-इंजीनियरिंग टेस्ट में 10 प्रतिशत अंक पाने की अनिवार्यता थी, इस खत्म कर दिया गया है, यानि पीईटी में शून्य अंक पाने वाले छात्र भी प्रवेश पा सकते हैं।

प्रदेश के इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश के लिए पहले पीईटी प्रवेश परीक्षा देने वाले को प्राथमिकता दी जाएगी, बची हुई सीटों पर ही जेईई प्रवेश परीक्षा में शामिल छात्रों को मौका दिया जाएगा। काउंसिलिंग की प्रक्रिया ओवरआल पीईटी में प्राप्त अंकों के आधार पर की गई है। इस लिहाज से पीईटी में अच्छा स्कोर हासिल करने वाले छात्रों को सरकारी इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश के साथ ही मनचाही ब्रांच भी मिलेगी।

पिछले वर्ष लगभग चार हजार सीटें रह गई खाली

प्रदेश में पिछले कुछ वर्षों से इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश कम हो रहे हैं। पिछले वर्ष भी लगभग चार हजार सीटें खाली रह गई है। यही वजह है कि साल दर साल इंजीनियरिंग की सीटें भी घटी है। इसके अलावा पालीटेक्निक की सात हजार सीटों के लिए भी आज से प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो रही है। जो 21 तक चलेगी। इंजीनियरिंग, पालीटेक्निक में प्रवेश का दूसरा चरण 22 अगस्त से शुरू होगा।तीसरे चरण की काउंसिलिंग संस्था स्तर पर होगी।