इन लुटेरों ने बैंक को ही ठग लिया : इतने नोट मिले कि बंडल से भर गया SSP का टेबल ; हैदराबाद और रायपुर से 7 गिरफ्तार ; देखें सूचि

926

रायपुर और हैदराबाद के कुछ शातिरों ने किसी इंसान को नहीं बल्कि पूरे के पूरे बैंक को ठग लिया। एक सरकारी एजेंसी का फर्जी चेक बनाकर इन शातिरों ने बैंक से 16 करोड़ 40 लाख 12 हजार 655 रुपए निकाल लिए।

एक्सिस बैंक में हुए इस कांड का पता भी तब चला जब बैंक वालों ने इतनी बड़ी रकम ठगों को सौंप दी। हालांकि शिकायत मिलने के 24 घंटे के भीतर ही इस पूरे कांड से जुड़े 7 शातिर गिरफ्तार कर लिए गए हैं।

यह भी पढ़ें – Raipur crime : दोस्तों ने शराब पीला कर किया क़त्ल ; पत्थर से कुचलकर बिगाड़ा चेहरा ; पकड़े गए तो बोले…

आरोपियों के पास से मिले 84 लाख रुपए।

आरोपियों के पास से मिले 84 लाख रुपए।

शनिवार की शाम इसकी जानकारी मीडिया को रायपुर के SSP प्रशांत अग्रवाल ने दी। जब SSP मीडिया से बात कर रहे थे उनकी टेबल नोटों के बंडल से भर गई थी। ये सारा का सारा पैसा एक्सिस बैंक से ठगी करने वालों से पुलिस को मिला है। फिलहाल पुलिस को इनके पास से 84 लाख रुपए मिले हैं। इस केस में दर्जन भर और शातिर शामिल हैं जो फरार हैं, पुलिस को उम्मीद है कि उनकी गिरफ्तारी के बाद बाकि के रुपए भी मिलेंगे।

इन शातिरों ने किया था कांड।

इन शातिरों ने किया था कांड।

ये है पूरा कांड

एक्सिस बैंक के बी आनंद ने रायपुर के मुजगहन थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई कि उनके बैंक में छ.ग. राज्य कृषि मण्डी बोर्ड का खाता है। इस खाते से आरोपी सतीश वर्मा और चन्द्रभान सिंह ने अपने सहयोगी लोगों के साथ मिलकर फर्जी तरीके से चेक बुक जारी की और फर्जी चेक बुक के माध्यम से कुछ रकम निकाली और कुछ अन्य बैंक खातों में ट्रांसफर करवा लिया।

यह भी पढ़ें – पत्नी को दुसरे युवक के साथ आपत्तिजनक हालात में देखकर पति हुआ आग बबूला : हथौड़ा से मार – मारकर पत्नी को मार डाला…

पुलिस ने इसके बाद खातों की जांच शुरू की। इनपुट मिला कि हैदराबाद के खातों में रकम भेजी गई है, रायपुर की पुलिस हैदराबाद पहुंची। वहां बैंक डीटेल के आधार पर 2 और रायपुर में 5 लोगों को पकड़ा गया। रायपुर के रहने वाले सौरभ मिश्रा ने बताया कि उसने अपने परिचित आबिद खान के साथ मिलकर इस कांड को अंजाम दिया।

कोटक महेन्द्रा में काम करने वाले गुलाम मुस्तफा ने भी इनका सथ दिया। गुलाम की मंडी बोर्ड के अफसरों से पहचान थी। उसे पता था कि मंडी बोर्ड का एक बड़ा ट्रांजेक्शन होने जा रहा है। इसके बाद इसने सभी के साथ मिलकर कुल 60 करोड़ रूपये को निकलवाए और दूसरे खातों में फर्जी चेक के जरिए ट्रांसफर करवा दिए। इस कांड को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपी अब भी फरार हैं। रायपुर पुलिस की टीम दिल्ली, मुम्बई, गुजरात, बैंगलोर जैसे शहरों में उनका पता लगा रही है।

यह भी पढ़ें – खुद के लिए चिता सजाकर – जलती चिता में कूद गई महिला, : जलकर हुई मौत…

इस कांड के मास्टर माइंड मेट्रो सिटीज में छुपे हैं उन्हें पकड़ने रायपुर की पुलिस रवाना हुई है।

इस कांड के मास्टर माइंड मेट्रो सिटीज में छुपे हैं उन्हें पकड़ने रायपुर की पुलिस रवाना हुई है।

ये हुए गिरफ्तार

01. संदीप रंजन दास, उम्र 43 साल निवासी दुर्ग।
02. समीर कुमार जांगडे, उम्र 28 साल निवासी रायपुर।
03. सौरभ मिश्रा , उम्र 36 साल निवासी रायपुर।
04. मो आबिद खान, उम्र 45 साल निवासी रायपुर।
05. गुलाम मुस्तफा, उम्र 38 साल निवासी रायपुर।
06. सत्यनारायण वर्मा, उम्र 33 साल निवासी जिला मेडक तेलंगाना।
07. सांई प्रवीण रेड्डी जिला राजेन्द्र नगर तेलंगाना।