Raipur Crime : सब्बल से सिर कुचलकर पिता की हत्या ; थाने पहुंच कर खुद दर्ज कराई FIR ; पकड़ा गया तो बताई ये वजह

756
  • City news Raipur
  • Crime news

जिस कातिल को पुलिस पूरे गांव और शहर में ढूंढ रही थी वह घर में ही मिल गया। तकरीबन 10 दिन पहले रायपुर के अभनपुर इलाके में जिस शख्स की हत्या की गई थी हत्यारा उसका बेटा ही निकल । इस हत्याकांड में हैरान करने वाले खुलासे सामने आए हैं। पुलिस ने हत्यारे बेटे को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें – Raipur Crime : 2 करोड़ का गांजा सहित लाखों का ड्रग्स जलाया गया ; रायपुर के हर मोहल्ले से पकड़े गए बदमाश ; देखें पूरी जानकारी

मामला अभनपुर के ऊपरवारा के वार्ड क्रमांक 9 का है। रात के वक्त अपने घर में सो रहे रामचंद्र तारक की किसी ने भारी-भरकम चीज से सिर कुचलकर हत्या कर दी थी। इस कांड की खबर पुलिस को सुबह होने के बाद घर वालों ने ही दी। इसके बाद छानबीन करते हुए पुलिस लगातार आरोपी का पता लगाने में जुटी हुई थी, मगर कोई नहीं जानता था कि इस शख्स की हत्या करने के पीछे उसके बेटे शिवकुमार तारक का ही हाथ था।

शुरुआत में शिवकुमार तारक ने फरियादी बनकर थाने में शिकायत की थी। उसने कहा था कि किसी अनजान शख्स ने घर में घुसकर मेरे पिता की हत्या कर दी। बड़ी ही मासूमियत भरे अंदाज में 3 जून को शिवकुमार ने खुद थाने जाकर अपने पिता की हत्या की FIR दर्ज करवाई। उसने बताया कि उसे लगा कि पुलिस उस पर शक नहीं करेगी, इसलिए उसे पकड़े जाने का डर नहीं था।

इधर पुलिस ने छानबीन शुरू की तो शिवकुमार तारक भी जांच के रडार में आ गया। पुलिस को पता चला था कि पिता और पुत्र के बीच अक्सर घरेलू मामलों को लेकर विवाद हुआ करता था। पूछताछ में जब पिता की हत्या से संबंध में पुलिस शिवकुमार से जानकारी लेने लगी तो अपना बयान बदलने लगा। पुलिस का शक गहरा गया। कड़ाई से पूछताछ करने पर शिवकुमार तारक अपने झूठ के साथ टिक न सका उसने कबूल लिया कि- हां मैंने ही अपने पिता की हत्या की है।

यह भी पढ़ें – Corona Breaking : छत्तीसगढ़ में कोरोना की वापसी ; रायपुर बना नया हॉट स्पॉट ; एक दिन में 18 केस ; 12 जिलों में 3667 सैंपल की जांच

पिता के थे नाजायज रिश्ते

शिवकुमार तारक ने पुलिस को बताया कि उसने अपने पिता को गांव की दूसरी महिलाओं से संबंध रखते हुए देख लिया था। शिव ने पुलिस को बताया कि उसके पिता की गर्लफ्रेंड भी थी। शिव ने कहा कि मेरा पिता मेरी मां को धोखा दे रहा था। इस बात को लेकर उसका अक्सर अपने पिता से विवाद हुआ करता था। शिव को पिता की हरकतें रास नहीं आती थी।

यह भी पढ़ें – बडी खबर : अंतरजातीय विवाह किया तो लडकी को समाज से निकाला ; आयोग ने कहा- फिर से शामिल करो वर्ना जाना होगा जेल

2 जून की रात भी इसी बात को लेकर हुई बहस बाजी के बाद शिवकुमार तारक ने सब्बल से अपने पिता के सिर को कुचल दिया। वह अपने पिता के सिर पर तब तक वार करता रहा जब तक उसकी जान चली न गई। जब पुलिस घटनास्थल के मुयाने पर पहुंची थी तो रामचंद्र का चेहरा बुरी तरह से बिगड़ चुका था। फर्श पर खून बिखरा हुआ था और शरीर पर कई जगह चोट के निशान भी थे।

हत्यारा बेटा शिवकुमार तारक गांव के दूसरे हिस्से में अलग मकान लेकर रहता था। वो वहां किराने की दुकान भी चलाता था। पुलिस ने इसके घर से हत्या में इस्तेमाल किया गया सब्बल भी बरामद कर लिया है।