G-20 लोगो में कमल के फूल का इस्तेमाल करना एक अहम मुद्दा….

351

सिटी न्यूज़  . पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि जी-20 के लोगो में कमल के फूल का इस्तेमाल करना एक जरूरी मुद्दा तो है लेकिन वह इस बारे में कुछ नहीं कहेंगी क्योंकि अगर इस मुद्दे पर बाहर (विदेशों में) चर्चा होती है तो यह देश के लिए अच्छा नहीं होगा. ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार शिखर सम्मेलन के ‘लोगो’के लिए कमल के फूल के अलावा किसी अन्य राष्ट्रीय चिह्न का विकल्प चुन सकती थी क्योंकि कमल का फूल एक राजनीतिक पार्टी का चिह्न है।कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार ने बीजेपी का प्रचार करने के लिए जी20 के ‘लोगो’में कमल के फूल का इस्तेमाल किया है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस आरोप पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि यह फूल देश की सांस्कृतिक पहचान का हिस्सा है।

ममता बनर्जी ने दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले शहर के हवाई अड्डे पर पत्रकारों से कहा कि मैंने भी यह ‘लोगो’देखा है. यह मामला हमारे देश से जुड़ा है इसलिए मैं कुछ नहीं कह रही हूं अगर इस पर बाहर चर्चा होती है तो यह देश के लिए अच्छा नहीं होगा.

साल 2023 में होने वाले जी20 के शिखर सम्मेलन की तैयारियों पर चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बैठक बुलाई है जिसमें हिस्सा लेने के लिए सीएम ममता बनर्जी दिल्ली गई हुई हैं. ममता बनर्जी ने कहा कि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि जी20 का लोगो एक राजनीतिक पार्टी का चुनाव चिन्ह भी है. बहुत सारे नेशनल सिंबल हैं जिनका इस्तेमाल किया जा सकता था. उन्होंने आगे कहा कि आने वाले दिनों में मैं भले ही इस मुद्दे को नहीं उठाऊं लेकिन इस बात को अन्य लोग उठा सकते हैं।