Big Breaking : बीरगांव के एकमात्र सार्वजनिक स्थल बुधवारी बाजार में पानी टंकी निर्माण का हो रहा चौतरफा विरोध …

1081

सिटी न्यूज रायपुर ( संवाददाता – राजेश शुक्ला )  :  बीरगांव के बुधवारी बाजार में पानी टंकी का निर्माण कार्य प्रारंभ होने जा रहा है,  लेकिन काम शुरू होने से पहले ही इसका चौतरफा विरोध भी शुरू हो गया है , छत्तीसगढ़ महतारी अधिकार मंच के प्रदेश अध्यक्ष श्री बेदराम साहू ने कहा कि डेढ़ लाख की आबादी वाले नगर निगम बीरगांव का एकमात्र हृदय स्थल है “बुधवारी बाजार” जहां हर प्रकार के सार्वजनिक कार्यक्रम,  पारिवारिक,  सामाजिक और राजनीतिक कार्यक्रम संपन्न होता है,  हफ्ते में दो दिन सोमवार और बुधवार को यहां सब्जी बाजार भी लगता है , सार्वजनिक कार्यक्रम हेतु बुधवारी बाजार के अलावा कोई दूसरा स्थान है ही नही, यहां एक पानी टंकी पहले से ही बना हुआ है, जो जर्जर हो चुका है, उक्त पानी टंकी के कारण बुधवारी बाजार सिमटकर छोटा हो चुका है,  कुछ दिन पहले पानी टंकी का सीढी वाला जर्जर हिस्सा अचानक टुट गया था जिससे एक बड़ा हादसा हो चुका है कईयों लोग उसमें दबकर गंभीर रूप से घायल हुवे थे.  तभी से उक्त जर्जर पानी टंकी को ध्वस्त करने एवं बुधवारी बाजार के बजाय नगर निगम कार्यालय के पीछे पानी टंकी बनाये जाने की मांग की गई थी जो कि आज तक पुरा नही हुआ उल्टा आज बुधवारी बाजार को खतम करने की नियत से उसी जगह एक और बडा सा पानी टंकी बनाने सत्ता में बैठे कांग्रेसियों द्वारा जबरदस्ती भूमीपूजन करने  का प्रयास किया जा रहा है !!छत्तीसगढ़ महतारी अधिकार मंच के प्रदेश अध्यक्ष और बीरगांव निगम के पार्षद बेदराम साहू ने कहा कि पेयजल की समस्या को दूर करने जल आवर्धन योजना के तहत पानी टंकी का निर्माण होना है, हम भी चाहते हैं कि पानी टंकी बने लेकिन बुधवारी बाजार में ही क्यूं,,  जहां पहले से ही एक पानी टंकी है,,  नया पानी टंकी तो कंही भी बनाया जा सकता है जहां से पाइप लाइन के माध्यम से पेयजल की सुविधा आमजनों तक पहुंचाई जा सकती है, बुधवारी बाजार एकमात्र सार्वजनिक स्थान है जहां सामाजिक और हर दल के  राजनीतिक कार्यक्रम संपन्न होता है इसके अलावा बीरगांव में कोई भी जगह एैसा नही है जिसका सार्वजनिक उपयोग हो सके,, इसलिए बुधवारी बाजार को सुरक्षित रखना अत्यंत जरूरी है,  इतनी सी बात कांग्रेस के नेताओं को क्यों समझ में नहीं आता…!! बेदराम साहू ने कहा कि लगभग पांच सौ गरीब परिवार अपनी मेहनत से यहां बुधवारी बाजार में सब्जी बेचकर अपना परिवार का पेट भरते है,  इन गरीबों के रोजी रोटी खतम कर इनके पेट में लात मारने का काम करने वाले  कांग्रेसी नेता लोग गरीबों का विरोधी है , अपने हितों की रक्षा की उम्मीद के साथ जिन गरीबों ने इन कांग्रेस के नेताओं को वोट देकर जिताये थे वही लोग चुनाव जीतने के बाद अब गरीबों के दुख दर्द का कारण बन गए हैं, सब्जी बेचने वाले गरीबों की रोजी रोटी छीन रहे हैं ,,, कांग्रेस के तानाशाही रवैया नही चलेगी,  हम गरीबों के साथ है,  किसी भी हालात में यहां बुधवारी बाजार में एक और नया पानी टंकी बनने नही देगें ,  जितना भी जगह बचा है,  उस सार्वजनिक जगह को सुरक्षित रखने हम अपनी जान तक दे देंगे लेकिन दो – दो पानी टंकी बुधवारी बाजार में बनने नही देगें,,  इसी मांग को लेकर आज हमने महापौर का निवास घेरा,,   कल सुबह 10 बजे हम सैकड़ों गरीब मजदूरों के साथ नगर निगम का घेराव करेगें,, व्यापारी बंधु एवं कांग्रेस के अलावा बाकी सभी राजनीतिक पार्टियों के नेता , देवांगन समाज सहित सभी समाज के मुखिया भी घेराव में शामिल होने की सूचना दिया है,     हम सभी की एकमात्र मांग है – बीरगांव के बुधवारी बाजार स्थित  पुराना और जर्जर पानी टंकी को बुधवारी बाजार से हटाया जाए और नया पानी टंकी का निर्माण नगर निगम मुख्यालय के पीछे या अन्यत्र कंही भी रिक्त पड़े सरकारी जमीन पर बनाया जाए ताकि बीरगांव के एकमात्र सार्वजनिक स्थल बुधवारी बाजार का क्षेत्रफ़ल बडा करके सदैव के लिए सार्वजनिक कार्यक्रम हेतु सुरक्षित रखा जा सके  !!