बुधवार को काली माता मंदिर के पीछे स्थित जल संसाधन विभाग में होगा प्रदर्शन सेवा समाप्ति का कर्मचारी नेताओं ने किया विरोध…

522

रायपुर, छत्तीसगढ़ राज्य में सरकार बनने के पूर्व चुनावी घोषणा पत्र में तथा अनेकों बार मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए आश्वासन के तहत किसी भी प्रकार की सेवा समाप्ति व छटनी किसी विभाग में नियमितीकरण भले न हो किन्तु सेवा समाप्ति नहीं की जानी है। फिर भी जल संसाधन विभाग जल प्रबंध संभाग क्रमांक एक काली मंदिर के पीछे के अधिकारीगण मुख्यमंत्री व कांग्रेस सरकार को बदनाम करने के लिए सात आठ वर्षो से संविदा कलेक्टर दर पर कार्यरत महिला कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त की गई है। इसके विरोध में संविदा दैनिक वेतन भोगी कलेक्टर दर में कार्यरत कर्मचारियों द्वारा दोषी अधिकारी का घेराव प्रदर्शन दोपहर 12 से 1 बजे तक किया जावेगा।

कर्मचारी नेता विजय कुमार झा एवं इदरीश खान ने बताया है कि सेवा समाप्ति से आक्रोशित अनियमित कर्मचारी जल प्रबंध संभाग क्रमांक एक काली मंदिर के पीछे कल बुधवार को प्रदर्शन कर सेवा में वापस लेने की मांग करेंगे। ऐसा न किए जाने पर आंदोलन को और उग्र किया जावेगा। क्योंकि प्रदेश में एक तरफ मुख्यमंत्री अनियमित कर्मचारियों को नियमित करने की बात कर रहे हैं। दूसरी तरफ अफसरशाही इतना व्याप्त है की सेवा समाप्ति पर उतारू हैं। ऐसे सेवा समाप्ति के आदेश पर रोक न लगने पर भविष्य में इसकी पुनरावृत्ति होने की संभावना बनी रहेगी।

कर्मचारी नेता अजय तिवारी, संजय शर्मा, सीएल दुबे, बीपी कुरील आदि नेताओं ने संविदा कर्मचारी नेता देवेश साहू एवं संदीप पांडे के नेतृत्व में अधिक से अधिक संख्या में काली मंदिर प्रांगण स्थित जल संसाधन विभाग में उपस्थित होने की अपील की है।