नए वर्ष में शादी के बंधन में बंधने के लिए शुभ मुहूर्त…

271

रायपुर …हिंदू धर्म में मांगलिक कार्य में मुहूर्त का विशेष महत्व है. पूजा-पाठ, मुंडन, गृहप्रवेश, सगाई, शादी आदि बिना मुहूर्त नहीं किए जाते. खासकर विवाह में मुहूर्त जरूर देखा जाता है. हिंदू पंचांग के अनुसार साल में कुछ ऐसे दिन होते हैं जिसमें शादी के लिए मुहूर्त देखने की जरुरत नहीं पड़ती, इन्हें अबूझ मुहूर्त कहा जाता है. अक्षय तृतीया (वैशाख शुक्ल तृतीया), देवउठनी एकादशी (कार्तिक शुक्ल एकादशी), बसंत पंचमी (माघ शुक्ल पंचमी) और भडल्या नवमी(आषाढ़ शुक्ल नवमी) मांगलिक कार्य के लिए अबूझ मुहूर्त माने जाते हैं. शास्त्रों के अनुसाव विवाह विवाह जैसे महत्‍वपूर्ण और शुभ कार्य के लिए शुक्र ग्रह की स्थिति को बहुत महत्‍व दिया गया है. ज्‍योतिष शास्त्र के अनुसार शादी के शुभ मुहूर्त के लिए शुक्र तारे का उदित होना अत्यंत जरूरी है।पंचांग के अनुसार साल 2022 में तो शादी के बहुत कम मुहूर्त है लेकिन साल 2023 में जून तक जमकर शहनाईयां बजेंगी हालांकि 15 मार्च से खरमास (Kharmas 2023) लग रहा है जिसमें मांगलिक कार्य निषेध हैं. पंचांग के अनुसार इस बार अप्रैल में भी विवाह के मुहूर्त नहीं है. आइए जानते हैं पंचांग के अनुसार अगले साल कब-कब है विवाह के शुभ मुहूर्त.

जनवरी 2023 शादी की डेट

  • 15 जनवरी 2023
  • 16 जनवरी 2023
  • 18 जनवरी 2023
  • 19 जनवरी 2023
  • 25 जनवरी 2023
  • 26 जनवरी 2023
  • 27 जनवरी 2023
  • 30 जनवरी 2023
  • 31 जनवरी 2023
  • फरवरी 2022 शादी की डेट

    • 6 फरवरी  2023
    • 7 फरवरी  2023
    • 8 फरवरी  2023
    • 9 फरवरी  2023
    • 10 फरवरी  2023
    • 12 फरवरी  2023
    • 13 फरवरी  2023
    • 14 फरवरी  2023
    • 15 फरवरी  2023
    • 17 फरवरी  2023
    • 22 फरवरी  2023
    • 23 फरवरी  2023
    • 28 फरवरी  2023
    • मार्च 2022 शादी की डेट

      • 6 मार्च 2023
      • 9 मार्च 2023
      • 11 मार्च 2023
      • 13 मार्च 2023