दुष्कर्म के आरोपी की सेंट्रल जेल में मौत ; अचानक गिरा और चली गई जान

617

रायपुर, रायपुर की सेंट्रल जेल में एक कैदी की मौत हो गई। ये कांड बीती रात हुआ। अब जांच के बाद कैदी का शव परिजनों को जेल प्रबंधन ने सौंप दिया है। जानकारी के मुताबिक कैदी जेल कैंपस में व्यायाम कर रहा था, तभी उसके सीने में दर्द हुआ और उसकी मौत हो गई।

जेल के अधीक्षक उत्तम पटेल ने बताया “विचाराधीन कैदी प्रदीप चौधरी रोजाना व्यायाम करता था। उसने सीने में दर्द होने की जानकारी जेल प्रशासन को दी। जेल प्रशासन ने उसे जेल के अस्पताल में जांच के लिए भेजा। डॉक्टर ने दर्द का इंजेक्शन दिया। जिसके बाद वह अस्पताल में ही लेटा रहा और उसकी मौत हो गई।

बॉडी बिल्डिंग का था शौक

जेल सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कैदी को बॉडी बिल्डिंग का शौक था। जेल में भी उसका ये शौक जारी था। रेप के आरोपी में वो जेल में बंद था। साल 2020 से वो रायपुर की सेंट्रल जेल में ही रह रहा था। एक्सरसाइज के दौरान पुशअप करते हुए उसे सीने में दर्द हुआ था। कैदी इलाहाबाद का रहने वाला बताया जा रहा है। इस मामले में जेल प्रशासन न्यायिक जांच करेगा, ताकि कैदी की मौत के कारणों का पता लग सके। माना जा रहा है कि हार्ट अटैक की वजह से उसकी जान गई।

एक सप्ताह में दूसरी मौत

इससे पहले 9 अगस्त मंगलवार के दिन रायपुर के सेंट्रल जेल में एक कैदी ने खुदकुशी कर ली थी। अपने ही शर्ट को फंदा बनाकर कैदी ने जान दे दी थी। यह घटना जेल के अस्पताल वार्ड में हुई थी। महेंद्र नाम का कैदी मानसिक रूप से परेशान था। बलौदाबाजार जिले के रहने वाले महेंद्र को साल 2018 में रायपुर सेंट्रल जेल लाया गया था। उसे अदालत ने 14 साल की सजा दी थी।