Politics : धान खरीदी के लिए बेहतर नीति बनाएगी भाजपा , पूर्व मुख्यमंत्री का बयान

213

धमतरी। कांकेर जिले की भानुप्रतापपुर विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए गुरुवार को बीजेपी प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम ने नामांकन दाखिल कर दिया है। इस मौके पर भानुप्रतापपुर जाने के दौरान पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह थोड़ी देर के लिए धमतरी जिले में रुके, जहां उन्होंने बीजेपी की जीत का दावा किया।

सिहावा में रमन सिंह ने स्थानीय बीजेपी नेताओं से भी मुलाकात की। इसके बाद पत्रकारों से चर्चा में उन्होंने कहा कि ये उपचुनाव अपने आपमें कई संदेश लेकर आया है। आज जनता में राज्य सरकार को लेकर भारी असंतोष और आक्रोश है, चाहे वो महिलाएं हों, चाहे युवा या फिर अनुसूचित जाति-जनजाति के लोग। उन्होंने कहा कि सरकार की गलत नीतियों से लोग परेशान हैं। लेकिन भानुप्रतापपुर उपचुनाव में बीजेपी की जीत बहुत कुछ साफ कर देगी।

क्राइम न्यूज़ : शादी का झांसा देकर शिक्षक ने महिला के साथ किया दुष्कर्म , डेढ़ साल चला प्रेम प्रसंग…

डॉ रमन सिंह ने कहा कि आदिवासियों का 20 से 32 फीसदी आरक्षण तत्कालीन बीजेपी सरकार ने ही किया था। 15 सालों तक इसमें कोई दिक्कत भी नहीं आई, लेकिन कांग्रेस सरकार ने कोर्ट में ठीक तरीके से अपना पक्ष नहीं रखा। वो इसे लेकर गंभीर ही नहीं थी। यहां तक कि बीजेपी सरकार चतुर्थ वर्ग की भर्तियों में भी जिला स्तर पर उन्हें कोटा देती थी। रमन सिंह ने ये भी कहा कि कांग्रेस सरकार किसानों को बोनस का पैसा 4 किस्तों में देती है, जबकि तत्कालीन बीजेपी सरकार एक बार में ही पूरा बोनस दे देती थी। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में हम और अच्छी नीति बनाएंगे।

2023 के विधानसभा चुनाव को लेकर रमन सिंह ने कहा कि हम पीएम नरेंद्र मोदी के नाम पर चुनाव लड़ेंगे, उनसे बड़ा नाम कोई नहीं है। चौथी बार सीएम पद के लिए दावेदारी को लेकर रमन ने कहा कि बीजेपी पहले से मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित नहीं करती। विधायक दल की बैठक में ही ये फैसला होता है। इसलिए मैं खुद को दावेदार नहीं कहता। हम पार्टी के निर्देशों के अनुसार काम करते हैं।

धनेली में रहने वाली छात्रा की लाश मिली गांव से दूर ; जांच में जुटी पुलिस

बीजेपी के वरिष्ठ नेता रमन सिंह ने कहा कि आज से भानुप्रतापपुर में ब्रह्मानंद नेताम के चुनाव अभियान की शुरुआत हुई है। सारे वरिष्ठ नेता वहां मौजूद थे। चारामा में भी आम सभा आयोजित की गई थी। नामांकन के समय पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, भाजपा अध्यक्ष अरुण साव, नेता प्रतिपक्ष नारायण चंदेल, बृजमोहन अग्रवाल मौजूद रहे। वहीं कलेक्ट्रेट में नंदकुमार साय, राम विचार नेताम भी मौजूद रहे।