सावधान : फर्जी दस्तावेज बनाकर किसान की जमीन हड़पने की साजिश ; BJP नेता 11 करोड़ की जमीन के 20 लाख देकर फरार ; देखें पूरी जानकारी

1267
  • City news Raipur
  • Crime – fraud

भारतीय जनता पार्टी के एक नेता ने रायपुर के किसान से जमीन का सौदा किया। अब वह उसकी जमीन हड़पने की ताक में है। यह शिकायत रायपुर के किसान ने पुलिस से की है। किसान अब कार्रवाई की मांग कर रहा है। इस मामले में दुर्ग के भारतीय जनता पार्टी के नेता निर्भय जैन पर जमीन खरीद-फरोख्त में धोखाधड़ी करने का आरोप है।

यह भी पढ़ें – रायपुर के इस स्कूल में लगी भीषण आग : जलकर खाक हुई लाखों की किताबें और फर्नीचर ; 3 घंटे धधकती रही लपटें

मामला रायपुर के भाटागांव इलाके का है। 72 साल के किसान खेदु राम सोनकर की लगभग ढाई एकड़ जमीन का सौदा उन्होंने निर्भय जैन के साथ किया था। किसान खेदूराम का आरोप है कि निर्भय के साथ मार्च के महीने में जमीन की 11 करोड़ 15 लाख रुपए में डील हुई थी। तब 20 लाख रुपए देकर निर्भय जैन अब लापता है।

अब अपने रुपयों के लिए किसान परेशान है।

अब अपने रुपयों के लिए किसान परेशान है।

खेदूराम का दावा है कि निर्भय जैन ने धोखे से फर्जी दस्तावेज भी तैयार किए। बुजुर्ग किसान जमीन के दस्तावेजों को पढ़ने में असमर्थ थे। इसका पूरा फायदा उठाते हुए निर्भय जैन ने 11 करोड़ के सौदे वाली जमीन का सिर्फ दो करोड़ रुपए का नोटरी से एग्रीमेंट तैयार करवा लिया। इस पर किसान के दस्तखत भी ले लिए। इस फर्जीवाड़े का खुलासा तब हुआ जब निर्भय जैन ने किसान की जमीन का किसी और से सौदा भी कर दिया।

यह भी पढ़ें – रायपुर में कोरोना की नई गाइडलाइन जारी : फिर बढ़ने लगे मरीज ; स्वास्थ्य संचालनालय ने कहा ये चिंता का विषय ; मास्क जरुरु लगाएं ; देखें गाइडलाइन

खेदूराम ने बताया कि जब भाटागांव के ही एक प्राइवेट स्कूल संचालक को निर्भय मेरी जमीन बेचने का ऑफर कर रहा था। तो मुझे इसकी जानकारी मिली। निर्भय ने दो करोड़ के नोटरी एग्रीमेंट बनवाकर इसे दूसरों को बेचने की कोशिश की। इसकी जानकारी हमने पुलिस को दी है।

आरोपी निर्भय दुर्ग जिले के भिलाई का रहने वाला है।

आरोपी निर्भय दुर्ग जिले के भिलाई का रहने वाला है।

सांसद पांडे का बताता करीबी –

खेदुराम की जमीन हड़पने की कोशिश करने वाला निर्भय जैन भिलाई के स्मृति नगर इलाके का रहने वाला है। दुर्ग जिले का यह भाजपा नेता खुद को सांसद सरोज पांडे का बेहद करीबी बताया करता था। खेदूराम ने बताया कि इसी वजह से उस पर भरोसा करके उन्होंने जमीन का सौदा किया।

यह भी पढ़ें – हसदेव में रुकी पेड़ों की कटाई ; 3 कोल प्रोजेक्ट प्रोसेस पर रोक ; सरपंच बोले-सारी खदानें रद्द होने तक जारी रहेगा आंदोलन

खेदूराम ने खुलासा किया है कि सिर्फ उनकी जमीन के साथ ही गड़बड़ी नहीं की गई है। बल्कि पाटन, तुलसी जैसे इलाकों के अलग-अलग 8-9 किसानों को निर्भय ने झांसे में लेकर इसी तरह दस्तावेजों की गड़बड़ी की है। अब रायपुर की पुलिस खेदूराम की शिकायत के आधार पर इस केस में जांच कर रही है।