छत्तीसगढ़ के इस कांग्रेसी नेता ने किया आत्महत्या : सुसाइड नोट में भूपेश बघेल से किया यह मांग ; फंदे पर लटका मिला शव

1025

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में कांग्रेस कमेटी बिल्हा के पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उनके परिवार वालों ने जमीन विवाद के चलते प्रताड़ना से मौत का आरोप लगाया है। साथ ही दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर चक्काजाम कर जमकर हंगामा मचाया। बाद में पुलिस की समझाइश पर मामला शांत हुआ। घटना सरकंडा थाना क्षेत्र की है।

जानकारी के अनुसार, सरकंडा क्षेत्र के चांटीडीह स्थित नगीना मस्जिद के पास रहने वाले पूर्व ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष रज्जब अली (52) बिल्डिंग मटेरियल सप्लाई का काम करते थे। बताया जा रहा है कि जिस जगह पर उनकी दुकान है, उसी जमीन को लेकर उनका विवाद चल रहा था।

Big Breaking : कांग्रेस ने खतम कर दिया बीरगांव अडवानी स्कूल का दशहरा – लोगों में भारी नाराजगी : डा. ओमप्रकाश बोले – बुराई पर होगी अच्छाई की जीत ; बीरगांव के उरला थाना के पास अहंकारी रावण का वध करेगें पूर्व विधायक नंदे साहू

वे मानसिक तनाव में चल रहे थे। सोमवार की रात उन्होंने अपने घर के आंगन में पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मंगलवार की सुबह परिजनों को इस घटना की जानकारी हुई। इसके बाद आसपास के लोगों की भीड़ जुट गई। खबर मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।

परिजनों ने शव रखकर किया चक्काजाम।

परिजनों ने शव रखकर किया चक्काजाम।

CM के नाम लिखा सुसाइड लेटर

रज्जब अली की जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें उन्होंने परिवार के सदस्यों से माफी मांगी है। इसके साथ ही उन्होंने अपने आपको को कांग्रेस कार्यकर्ता बताते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से अपने परिवार के सदस्यों की सुरक्षा की मांगी है। पुलिस ने सुसाइड नोट जब्त कर लिया है।

परिजनों ने दो कांग्रेस नेताओं पर लगाए प्रताड़ना के आरोप

इधर, व्यवसायी कांग्रेस नेता के बेटे हमाम अली और बेटी सबाना बेगम ने अपने पिता की मौत के लिए कांग्रेस नेता अकबर खान और तैय्यब हुसैन को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने बताया कि उनकी दुकान की जमीन में कब्जा करने और उसे तोड़ने की धमकी दी जा रही थी। उन्होंने बताया कि अकबर खान और तैय्यब हुसैन ने रज्जब की दुकान के बगल की जमीन का सौदा किया है। इसके बाद वे रज्जब की जमीन पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसके कारण वे मानसिक रूप से तनाव में आ गए थे।

चक्काजाम कर रहे परिजनों को पुलिस ने दी समझाइश।

चक्काजाम कर रहे परिजनों को पुलिस ने दी समझाइश।

CIMS में शव के पोस्टमॉर्टम के बाद परिजन शव को अपने घर के पास ले गए और गाड़ी में रखकर चक्काजाम कर दिया। बीच सड़क में शव रखकर परिजन हंगामा मचाने लगे और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। चक्काजाम की सूचना मिलते ही सरकंडा के साथ ही कोतवाली पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई।

मिशन 2023; भाजपा के पदाधिकारी करेंगे मंथन, अब जिलाध्यक्षों की होगी नियुक्ति

इस दौरान पुलिस ने परिजनों को समझाइश दी। साथ ही कहा कि सुसाइड नोट में किसी का नाम नहीं है, तो पुलिस सीधे तौर पर कैसे कार्रवाई कर सकती है। पुलिस अफसरों ने परिजनों को लिखित शिकायत देने और जांच के बाद कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया। तब जाकर करीब आधे घंटे बाद परिजन शांत हुए।

परिजनों ने प्रताड़ना के चलते आत्महत्या करने के लगाए आरोप।

परिजनों ने प्रताड़ना के चलते आत्महत्या करने के लगाए आरोप।

हमारा कोई लेना-देना नहीं- परिवार वालों से रहा था विवाद

व्यवसायी रज्जब के बेटे हमाम अली के आरोपों पर कांग्रेस नेता तय्यब हुसैन ने बताया कि जिस जमीन पर कब्जा करने का आरोप लगाया जा रहा है। उससे हमारा कोई लेनादेना नहीं है। जमीन को लेकर पारिवारिक सदस्यों से विवाद चल रहा है और मामला कोर्ट में है। उन्होंने कहा कि परिजन उनके ऊपर बेबुनियाद रूप से आरोप लगा रहे हैं। हम हर तरह से जांच के लिए हम तैयार हैं।