बड़ी खबर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दिल्ली पुलिस के हिरासत में ; विधायक विकास उपाध्याय भी गिरफ्तार ; जानिए क्या है मामला ?

1375

प्रवर्तन निदेशालय-ED के बाहर प्रदर्शन कर रहे छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इस दौरान मुख्यमंत्री के सुरक्षा अधिकारियों के साथ दिल्ली पुलिस की तीखी नाेकझोंक भी हुई। बघेल कांग्रेस नेता राहुल गांधी के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे थे। ऐसे ही एक प्रदर्शन में शामिल रायपुर से कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय को भी दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सुबह 10 बजे ही दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय पहुच गए थे। वहां प्रेस से बात करते हुए उन्होंने कहा, केंद्र सरकार, सरकारी संस्थाओं के माध्यम से कांग्रेस के नेताओं को डराने की कोशिश कर रही है। हम डरने वाले नहीं हैं। कांग्रेस के कार्यकर्ता जमीनी स्तर पर केंद्र की सरकार द्वारा की जा रही नफरत और डर की राजनीति को जनता तक पहुंचाएंगे।

भाजपा नेता पूर्व IAS ओपी चौधरी के खिलाफ FIR ; कोयला चोरी का फर्जी वीडियो किया था वायरल

कांग्रेस, केंद्र सरकार द्वारा बढ़ाई गई महंगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दों को आम जनता तक पहुंचाएगी। कांग्रेस मुख्यालय में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित सभी बड़े नेता मौजूद थे। कुछ देर बाद वहां राहुल गांधी और प्रियंका गांधी भी पहुंचे। बाद में सभी लोग राहुल गांधी के साथ ही प्रवर्तन निदेशालय की ओर रवाना हुए।

पुलिस की बेरीकेडिंग की वजह से प्रदर्शन कई टुकड़ों में बंट गया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को ED दफ्तर के बाहर सड़क पर डिटेन कर लिया गया। वहां पुलिस ने भारी बेरीकेट, गाड़ियां लगाई थीं। वहीं मुख्यमंत्री के चारो तरफ रैपिड एक्शन फोर्स के जवानों की भारी तैनाती कर उनका कहीं भी जाना रोक दिया गया। मुख्यमंत्री के साथ मौजूद छत्तीसगढ़ पुलिस के जवानों ने उनको सुरक्षा घेरे में ले लिया।

इस बीच दिल्ली पुलिस के अधिकारी सीएम को अपने साथ ले जाने की बात कहने लगे। मुख्यमंत्री ने कहा, पुलिस उनके सुरक्षा अधिकारी से बात करे। बाद में मुख्यमंत्री के सुरक्षा अधिकारी ने साफ शब्दों में कह दिया कि वे लोग सीएम को किसी दूसरी गाड़ी में नहीं ले जाने जाने देंगे। उनकी गाड़ी मंगाई जाए, वे सीएम को ले जाएंगे। बाद में पुलिस सीएम सुरक्षा की गाड़ी मंगाने को तैयार हुई।

छत्तीसगढ़ के विधायक और संसदीय सचिव को पुलिस ने गिरफ्तार कर बस में ले गई है।

छत्तीसगढ़ के विधायक और संसदीय सचिव को पुलिस ने गिरफ्तार कर बस में ले गई है।

रायपुर में फिर एक मर्डर : बीती रात शहर के राजेंद्र नगर इलाके में एक प्रॉपर्टी डीलर को कुछ बदमाशों ने सूजा घोंपकर मार डाला ; वारदात में शामिल नाबालिग और एक युवक को गिरफ्तार ; मुख्य आरोपी फरार

मुख्यमंत्री ने बताया तानाशाही

मुख्यमंत्री ने पुलिस की इस कार्रवाई को तानाशाही बताया है। उन्होंने कहा, कानून का राज कहां है। यहां तो तानाशाही चल रही है। सेंट्रल एजेंसीज का दुरुपयोग किया जा रहा है। अपने लोगो को बचाने का काम किया जा रहा है। विपक्ष को दबाने की कोशिश कर रही है, लेकिन हम दबने वाले नहीं हैं।

सोनिया गांधी की पेशी के दिन और बड़ा प्रदर्शन

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, सोनिया गांधी जब ED के सामने पेश होंगी इस से बड़ा प्रदर्शन किया जाएगा। कितनी भी दिल्ली पुलिस बैरिकेटिंग करले, कितना भी प्रयास करके।सत्य को जीत होगी।

विकास उपाध्याय सहित कांग्रेस के कई नेताओं को मयूर विहार थाने में बिठा लिया गया है।

विकास उपाध्याय सहित कांग्रेस के कई नेताओं को मयूर विहार थाने में बिठा लिया गया है।

विकास के साथ धक्का-मुक्की भी हुई

विधायक विकास उपाध्याय को पुलिस ने कांग्रेस दफ्तर से निकलते समय ही रोक दिया। यहां भारी पुलिस बंदोबस्त के बीच कांग्रेस नेता नारेबाजी करते रहे। बाद में पुलिस ने उनके साथ धक्का-मुक्की की। सभी को गिरफ्तार कर बसों में बिठा लिया गया। वहां से सभी को अलग-अलग थानों में ले जाया गया है। विकास उपाध्याय, एमपी डॉ. विष्णु प्रसाद, ज्योति मनी, एआईसीसी सचिव रामकिशन ओझा, बीएम संदीप, रूद्र राजीव, नितिन कुम्बलकर और खुर्शीद अली को मयूर विहार थाने में बिठाया गया है।

जगन्नाथ रथ यात्रा 2022 : 14 जून को महास्‍नान ; जानिए किस दिन शुरू होगी भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा

कांग्रेस ने मांगी थी ED दफ्तर तक मार्च की अनुमति, नहीं मिली

कांग्रेस ने दिल्ली पुलिस से राहुल गांधी के साथ ED दफ्तर तक मार्च की अनुमति मांगी थी। एक दिन पहले पुलिस प्रशासन ने ऐसी अनुमति देने से मना कर दिया। उसके बाद कांग्रेस मुख्यालय के बाहर की सड़कों पर अवरोध लगा दिया गया। सोमवार को कांग्रेस नेता अलग-अलग जत्थों में प्रदर्शन करने निकले।