हेडमास्टर ने बैंक से लिया था लाखों का लोन, ट्रेन में कटकर दी जान…

768

जांजगीर-चांपा…. जिले के नैला चौकी थाना क्षेत्र के खोखसा फाटक के पास 55 वर्षीय शख्स ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली। मृतक सुरेश यादव बलौदा विकासखंड के नवागांव के मिडिल स्कूल में प्रधान पाठक के पद पर पदस्थ थे। हादसे की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है।

जानकारी के मुताबिक, जांजगीर के कलेक्ट्रेट कॉलोनी के वार्ड नंबर- 19 के रहने वाले सुरेश यादव (55) बुधवार की सुबह 4 बजे मॉर्निंग वॉक के लिए अपने घर से निकले थे। उन्होंने घर के गेट को बाहर से बंद कर दिया था। जब काफी देर तक वह वापस नहीं लौटे, तो उनका बेटा अमित यादव अपने पिता को ढूंढने के लिए निकला। उसे पता चला कि खोखसा फाटक के पास एक अज्ञात व्यक्ति का शव रेलवे ट्रैक पर पड़ा हुआ है। जब उसने वहां जाकर देखा, तो उसके पिता सुरेश यादव का शव उसे दिखाई दिया।अमित ने तुरंत पिता के आत्महत्या की खबर परिजनों को दी। जिसके बाद मृतक की पत्नी और बेटी मौके पर पहुंची। मृतक सुरेश यादव के बेटे अमित ने बताया की उसकी शादी अगले महीने जनवरी में होने वाली थी। उसके पिता शादी के खर्च को लेकर हमेशा परेशान रहा करते थे। उन्होंने शादी के लिए बैंक से 15 लाख रुपए और घर बनाने के लिए 15 लाख रुपए का लोन लिया था। कुल 30 लाख रुपए के लोन को चुकाने की चिंता उन्हें खाए जा रही थी। घरवाले उन्हें समझाया भी करते थे कि सब ठीक हो जाएगा, लेकिन आखिरकार उन्होंने आत्महत्या कर ली। मृतक का बेटा अमित किसी प्राइवेट कंपनी में जॉब करता है।बुधवार को स्टेशन मास्टर को लोको पायलट ने सूचना दी थी कि एक व्यक्ति ने मिडिल लाइन पर ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली है। जिसके बाद स्टेशन मास्टर ने रेलवे कर्मचारियों को ड्यूटी पर लगाया। जानकारी के अनुसार, सबसे पहले सुरेश यादव ने अपलाइन पर आत्महत्या करने की कोशिश की, जिसमें केवल उसके पैर का तल्ला ही कटा। उसके खून भरे पैर द्वारा चलने के निशान भी मौके पर हैं। इसके बाद वो मिडिल लाइन खंभा 673/8 पर जाकर पटरी पर लेट गया, जिससे उसका शरीर से धड़ से अलग हो गया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है।