सरकारी अधिकारी एवं कर्मचारियों के हड़ताल से नाराज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आया बयान, कहा – सुविधाओं के बाद भी हड़ताल कर रहे हैं अब “सरकार अपना काम करेगी”…

1151

रायपुर। महंगाई भत्ता और गृह भाड़ा भत्ते को लेकर छत्तीसगढ़ अधिकारी-कर्मचारी फेडरेशन की अनिश्चितकालीन हड़ताल आज से शुरू हो गई है. फेडरेशन ने इन्द्रावती भवन के सामने से हड़ताल की शुरुआत की गई है।

बूढ़ा तालाब धरना स्थल पर अनिश्चितकालीन हड़ताल किया जा रहा है. आंदोलन को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपना रुख साफ कर दिया है।

सीएम का कहना है कि कर्मचारियों के आधे संगठन ने 6% DA बढ़ाने का स्वागत किया है. हमारी तमाम योजनाओं का लाभ कर्मचारियों को मिल रहा है, वर्किंग डेज 5 दिन किया गया है, उसके बाद भी वो हड़ताल करना चाहते हैं तो उनकी इच्छा, सरकार अपना काम करेगी।

80 संगठनों का समर्थन

बता दें कि छत्तीसगढ़ अधिकारी-कर्मचारी फेडरेशन ने केंद्र की तरह सातवें वेतनमान के आधार पर महंगाई भत्ता और गृह भाड़ा भत्ता देने की मांग की है. इन मांगो पर सरकार से सहमति नहीं बनने पर फेडरेशन पहले भी हड़ताल कर चुका है. पहले भी 5 दिवसीय हड़ताल की गई थी. इससे भी बात नहीं बनने पर फेडरेशन ने अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी दी थी. जिसके बाद अधिकारी-कर्मचारियों ने आज से हड़ताल की शुरुआत कर दी है. इस आंदोलन को करीब 80 संगठनों का समर्थन भी है. वहीं कुछ संगठनों ने हड़ताल से अपने हाथ पीछे खींच लिए है।