रायपुर में गणेश प्रतिमा तोड़फोड़ के बाद बवाल: भगवान की मूर्तियों की सूंड, हाथ टूटे मिले, दुकानदार थाने पहुंचकर रोते हुए बोला- मैं बर्बाद हो गया… थाने पहुंचे BJP-शिव सेना कार्यकर्ताओं की नारेबाजी; हंगामे के बाद पुलिस ने दर्ज की FIR

960

रायपुर के आमापारा की सड़क पर दर्जनों गणेश प्रतिमाएं तोड़े जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया। सोमवार देर शाम भाजपा और शिवसेना के कार्यकर्ता आजाद चौक थाने पहुंच गए। नेता अपने साथ टूटी हुई प्रतिमाएं लेकर थाने गए। यहां बैठकर नारेबाजी करने लगे। माहौल बिगड़ता देख पुलिस को FIR दर्ज करनी पड़ी।

पुलिस ने फिलहाल धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। ये केस अनजान लोगों पर दर्ज किया गया है। आजाद चौक थाने की पुलिस के मुताबिक इस प्रकरण में कारणों का पता लगाया जा रहा है कि आखिर प्रतिमाएं टूटी कैसे।

मूर्तिकार ने रोते हुए बयां किया दर्द।
मूर्तिकार ने रोते हुए बयां किया दर्द।

ये हुआ था
मूर्तिकार नारायण प्रजापति ने बताया कि आमापारा की सड़क के किनारे वह गणेश प्रतिमाओं की दुकान लगाते हैं। बुधवार को गणेश चतुर्थी का त्योहार है। देर रात अपनी दुकान बंद कर प्रतिमाओं को ढंक कर घर चले गए थे। सुबह लौटे तो देखा कि गणेश जी की प्रतिमाएं किसी ने तोड़ दी हैं।

प्रतिमा टूट गई।
प्रतिमा टूट गई।

किसी प्रतिमा के दोनों हाथ टूटे हुए थे तो किसी प्रतिमा की सूंड गायब, सर टूटकर लटका हुआ था। मूर्तिकार ने दावा किया है कि 100 से ज्यादा प्रतिमाओं को किसी ने तोड़ा है। सभी प्रतिमाएं तितर-बितर थीं ऐसा लगा मानो किसी ने धक्के दे देकर प्रतिमाओं को इधर से उधर गिराया और तोड़ दिया।

शिवसैनिकों का ज्ञापन।
शिवसैनिकों का ज्ञापन।

गिरफ्तारी की मांग
शिवसेना नेता सुनील कुकरेजा ने दैनिक भास्कर से कहा कि नानुकुर के बाद जब शिवसेना ने मामले मंे शिकायत करते हुए केस दर्ज करने की मांग की पुलिस ने केस दर्ज किया है। हमनें आजाद चौक CSP को शिकायत देकर इस केस में दोषियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है। देवी-देवताओं का ऐसा अपमान नहीं सहा जाएगा।