राजधानी रायपुर से लगे गौठान के समिति अध्यक्ष ने गौठान में लगाई फांसी; कुछ दिन पहले पिता की हुई थी मौत…

850

रायपुर, राजधानी से लगे अभनपुर इलाके के एक गौठान में शनिवार की सुबह लाश लटकी मिली। ये लाश गौठान समिति के अध्यक्ष की थी। गांव में अब इस मौत के बाद कई तरह की चर्चाएं हैं। पुिलस शुरुआत में मामले को दबाने का प्रयास करती रही, अब अफसर कह रहे हैं मामले की जांच जारी है। दूसरी तरफ भाजपा ने इस मौत पर सियासी बवाल मचाना शुरू कर दिया है क्योंकि मौत गौठान से जुड़ी है।

मामला अभनपुर के आमदी गांव का है। गौठान समिति के अध्यक्ष रहे पवन निषाद की लाश सुबह गौठान के छज्जे से लटकी मिली । फिलहाल सामने आई जानकारी के मुताबिक पवन ने गमछे से फंदा बनाकर फांसी लगाकर खुदकुशी की है । पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है । गांव वालों से इस संबंध में पूछताछ की जा रही है। पुलिस के मुताबिक कुछ दिन पहले गांव के कुएं में गिरकर पवन के पिता गंगू राम निषाद की भी मौत हो चुकी है। इस मामले में भी छानबीन की जा रही थी। भाजपा दोनों ही मौत को हत्या बता रही है।

भाजपा ने लगाए शोषण के आरोप, मुआवजे की मांग
छत्तीसगढ़ प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सांसद अरुण साव ने कहा कि अभनपुर थाने के आमदी गांव में आत्महत्या करने वाले पवन कुमार निषाद गौठान समिति के अध्यक्ष रहे हैं। उनके पिता की कुछ ही दिन पहले हत्या होने की खबर है। पुलिस पूछताछ के लिए उन्हें थाने लेकर गई थी। थाने से आने के बाद उन्होंने रात को फांसी का फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली।

साव ने आगे कहा कि यह भी खबर है कि गौठान को लेकर गांव में विवाद चल रहा था। इसका सीधा अर्थ है कि ये गौठान विवाद का केंद्र बन गए हैं और खुदकुशी का यह मामला भी प्रताड़ना का संदेह व्यक्त कर रहा है। इस घटना निष्पक्ष जांच हो और मृत किसान के परिवार को एक करोड़ रुपये का मुआवजा तत्काल दें।