कॉंग्रेस विधायक ने अंबेडकर अस्पताल में मचाया बवाल: महिला डॉक्टर ने विधायक से फोन पर बात करने से मना किया तो तमतमाए विधायक आ पहुचे अस्‍पताल, ट्रांसफर कराने की दी धमकी…

994
अंबेडकर अस्पताल की लेडी डॉक्टर ने कांग्रेस विधायक से मरीज के डिस्चार्ज होने पर बात करने से मना किया तो विधायक ने तबादला कराने की धमकी दे डाली।
अंबेडकर अस्पताल की डॉक्टर से कांग्रेस विधायक एक मरीज का हालचाल जानना चाह रहे थे। उस मरीज की छुट्‌टी हो चुकी थी। महिला डॉक्टर ने बात करने से मना किया, तो विधायक सीधे अस्पताल पहुंच गए। तमतमाए विधायक का डॉक्टरों ने वीडियो बना लिया, तो और नाराज हो गए। उन्होंने फोन कर किसी अधिकारी को डॉक्टर का तबादला बलरामपुर या फिर सूरजपुर करने कहा। इसके साथ ही अस्पताल में दवा पर सवाल किए।
सेमरवा जिला रामानुजगंज निवासी दिनेश यादव को परिजन 13 अगस्त को अंबेडकर अस्पताल लाए थे। वो ठीक हुआ तो मरीज को डिस्चार्ज कर दिया गया। विधायक ने मरीज के बारे में जानकारी लेने के लिए ड्यूटी डॉक्टर प्राची सिरमौर से फोन पर बात करनी चाही, लेकिन डॉक्टर ने बात करने से मना कर दिया।

इस पर तिलमिलाए विधायक अस्पताल पहुंच गए तो डॉक्टर के कहने पर उनके सहयोगी ने वीडियो बना लिया। विधायक द्वारा परिचय देने के बाद भी डॉक्टरों की टीम ने उन्हें बैठने के लिए नहीं कहा तो वे नाराज हो गए और वह धरने पर बैठने की धमकी देने लगे। सूचना मिलते ही चिकित्सा शिक्षा विभाग के डीएमई डॉक्टर विष्णु दत्त मौके पर पहुंच गए। विधायक ने आप बीती डीएमई को बताई, इस पर वह जमकर नाराज हुए।

डीएमई बोले-नहीं तो खटिया खड़ी कर दूंगा
डीएमई के आदेश पर वीडियो बनाने वालों की तलाश होने लगी। डीएमई ने कहा कि वीडियो वायरल नहीं होना चाहिए। किसी भी कीमत पर वीडियो डिलीट करवाओ नहीं तो पूरे डिपार्टमेंट की खटिया खड़ी कर दूंगा। डीएमई ने वीडियो डिलीट करवाने के लिए कुछ डॉक्टरों का मोबाइल चेक किया। पूछताछ में पता चला कि वीडियो एक डॉक्टर ने बनाया है। उन्हें फोन कर बुलाया गया। उनके आने पर डीएमई ने पूछा कि वीडियो वायरल तो नहीं किया है। उन्होंने जब ना में जवाब दिया तो डीएमई ने उनका मोबाइल लेकर वीडियो डिलीट किया।

फोन पर ट्रांसफर करने की कही बात…
डॉक्टरों की टीम विधायक को ट्रामा सेंटर से केबिन में ले जाने की बात कह रही थी, लेकिन वह अपनी जिद पर अड़े थे। उन्होंने फोन पर किसी अधिकारी को डॉक्टर प्राची सिरमौर को बलरामपुर या फिर सूरजपुर ट्रांसफर करने की बात कही।