अब 17 की उम्र में बन जाएगा नया वोटर कार्ड ; आवेदन के लिए साल में 4 तारीखें तय, आधार लिंक भी करवा सकेंगे

255

रायपुर, राज्य मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी पी. दयानंद ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में नए वोटर कार्ड (एपिक कार्ड) को इंट्रोड्यूस किया गया। इस कार्ड को नए रंगों में सिक्योरिटी फीचर्स और हॉलमार्क के साथ तैयार किया गया है। अफसर ने बताया कि इसके साथ ही नए वोटर कार्ड के लिए अप्लाई करने, आधार से लिंक करने जैसे नए नियम भी जारी किए गए हैं।

अब नए नियमों के मुताबिक 17 साल के युवा भी वोटर कार्ड के लिए आवेदन कर सकेंगे। 18 साल के होने पर उन्हें वोट देने का अधिकार होगा और वोटर लिस्ट में शामिल किया जाएगा। 1 जनवरी, 1 अप्रैल, 1 जुलाई और 1 अक्टूबर को साल में चार बार वोटर कार्ड के लिए अप्लाई किया जा सकेगा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी पी दयानंद ने बताया कि आधार से भी वोटर कार्ड लिंक होगा। ये व्यवस्था फिलहाल अनिवार्य नहीं हैं, इच्छुक लोग इसे लिंक करवा सकेंगे।

नए वोटर्स के लिए

चुनाव आयोग द्वारा जारी किए गए निर्देश के मुताबिक जिन लोगों की आयु 1 जनवरी 2023 में 18 साल पूरी हो रही है, वह भी वोटर आईडी कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। नए मतदाता अपनी पहचान करने के लिए रजिस्ट्रेशन के समय आधार नंबर दे सकते हैं, मतदाता सूची में नाम जोड़ने के बाद प्रत्येक मतदाता को इपिक कार्ड जारी किया जाएगा, जिनके नाम पहले से ही मतदाता सूची में सम्मिलित हैं, वे भी 1 अगस्त से 1 अप्रैल 2023 तक अपने आधार नंबर वोटर आईडी में अपडेट करवा सकते हैं, इसके लिए नया फॉर्म 6 बी भरा जाएगा।

राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी पी. दयानंद ने बताया कि वोटर कार्ड को नए सुरक्षा मानकों के साथ जारी किया जाएगा। कार्ड बनने के बाद एक अगस्त से इसका वितरण बूथ लेवल अधिकारी से न करवाकर डाक द्वारा स्पीड पोस्ट से कराया जाएगा।

नया वोटर कार्ड ऐसा

नए कलेवर में वोटरकार्ड कई सिक्योरिटी फीचर्स के साथ बनेगा। इनमें क्यूआर कोड, माइक्रो टेक्स्ट, पैटर्न, होलोग्राम व घोस्ट इमेज रहेगी। महाराष्ट्र की एम-टेक इनोवेशन लिमिटेड पुणे को यह काम दिया गया है। होलोग्राम कर्नाटक के मणिपाल टेक्नॉलॉजिस लिमिटेड बनाएगा। वोटरों तक इसे पहुंचाने डाक विभाग से एमओयू हुआ है। वोटरों को नए कार्ड के साथ वैलकम लेटर, वोटरगाइड, प्लेज व एनवलप भी दिया जाएगा।

बदलाव की खास बातें

1- प्रपत्र-7 में वोटरलिस्ट से नाम हटाने अब डेथ सर्टिफिकेट देना होगा।
2- फार्म-8 में पता बदलने, वोटरलिस्ट में सुधार, डुप्लीकेट एपिक व दिव्यांग की पहचान के लिए होगा।
3- आपत्तियों की सूची में सुधार करने फार्म 11, 11- क के साथ फार्म 11-ख भी रहेगा।
4- डिजिटलाइज पंजीकरण की तिथियां 1 जनवरी, 1 अप्रैल, 1 जुलाई व 1 अक्टूबर
5- इन चार तारीखों को क्रॉस करते ही स्वयमेव युवा आवेदन का नाम वोटरलिस्ट में जुड़ जाएगा।
6- फाइनल वोटर लिस्ट जनवरी में ही प्रकाशित होती रहेगी।
7- 1 अगस्त से ईआरओ नेट से जुड़ी आईटी एप्लीकेशन नेशनल वोटर्स सर्विस पोर्टल (एनवीएसपी), वोटर हेल्पलाइन एैप और गरूड़ एैप पर सभी फार्म मिलेंगे।
8- राजनीतिक दलों को हर हफ्ते दावा -आपत्तियों की सूची से अवगत कराया जाएगा। सूचनाफलक व वेबसाइट पर भी देखी जा सकेगी।
9- प्रारंभिक व अंतिम प्रकाशन की वोटरलिस्ट राजनीतिक दलों को मुफ्त में मिलेगी।