रायपुर : कोयले का संकट अब प्रदेश के उद्योगों पर,15 अगस्त से तालाबंदी की चेतावनी…

626

रायपुर : छत्तीसगढ़ के उद्योगों में कोयला संकट गहराते जा रहा है। उद्योगपतियों ने चेतावनी दी है कि यदि कोयला संकट दूर नहीं हुआ तो 15 अगस्त के बाद उद्योगों में तालाबंदी कर सड़क की लड़ाई लडऩे के लिए मजबूर होंगे। उद्योगपतियों का कहना है कि कोयला संकट की वजह से उद्योगों का उत्पादन भी आधा हो गया है।छत्तीसगढ़ स्पंज आयरन एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल नचरानी ने बताया कि एसईसीएल (साउथ ईस्टर्न कोल्फील्ड्स लिमिटेड) से स्पंज आयरन उद्योगों का कोयले की सप्लाई को लेकर वर्ष-2017 से मार्च-2022 तक लिंकेज एग्रीमेंट हुआ था। यह एग्रीमेंट अब समाप्त हो गया है। इसकी वजह से उद्योगों को कोयला मिलना बंद हो गया है। उद्योगपति चाहते है कि लिंकेज एग्रीमेंट फिर से आगे बढ़ाया जाए ताकि उद्योगों को कोयला मिल सके।

उन्होंने बताया कि अभी प्रदेश के उद्योगों के पास 15 अगस्त तक का कोयला स्टाक में है, इसके बाद खत्म हो जाएगा। मिनी आयरन व स्पंज आयरन उद्योग भी बुरी तरह से प्रभावित होगा।