खत्म हुआ महंगे पेट्रोल-डीजल का झंझट, मिला कभी खत्म नहीं होने वाला खजाना, इंसानों के मूत्र से चलेगी ट्रैक्टर

932

नई दिल्लीः  तेजी से बढ़ते पेट्रोल-डीजल की कीमतों से हर वर्ग के लोग हलाकान हैं। आए दिन इंधन की बढ़ती कीमतों ने आम जनता की कमर तोड़ दी है। लेकिन अब आपको अब परेशान होने की जरूरत नहीं हैं। दरअसल वैज्ञानिकों ने ऐसा खजाना ढूंढ लिया है जो कभी खत्म नहीं होगा। जी हां अब पेट्रोल के बजाए गाड़ियां दूसरे इंधन से वलेंगी, जो कभी खत्म नहीं होगा।

दरअसल अमेरिकी कंपनी अमोगी ने  इंसानों के मूत्र से ट्रैक्टर चलने वाला ट्रैक्टर तैयार किया है। बताया जा रहा है कि ये ट्रैक्टर अमोनिया से चलेगा, जिसे इंसानों के मूत्र से फिल्टर करके निकाला जाएगा। कंपनी ने एक ऐसा रिएक्‍टर बनाया है, जो अमोनिया को तोड़ता है और हाइड्रोजन का इस्‍तेमाल कर उससे ऊर्जा पैदा करता है। यानि इंसानों के मूत्र को रिएक्‍टर प्रोसेस कर अमोनिया निकाला जाएगा जिससे ट्रैक्टर चलेगा। अगर कंपनी का ये प्रयोग सक्सेज हो गया तो इसमें कोई संदेह नहीं कि आगामी दिनों में ये प्रयोग अन्य गाड़ियों में भी किया जा सकता है।

DW ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि यूरिन को आमोनिया(amoniya) में बदला जा सकता है उससे ऊर्जा पैदा की जा सकती है। कंपनी ने फिलहाल ऐसा प्रयोग ट्रैक्‍टर के साथ किया है, लेकिन भविष्‍य में इसी से समुद्री (samudri) मालवाहक जहाजों को चलाना चाहती है !

इंडस्‍ट्री में अमोनिया का इस्‍तेमाल चूंकि दशकों से होता आ रहा है, इसलिए इसके स्‍टोरेज की पर्याप्‍त व्‍यवस्‍था पहले से ही है। इसकी हैंडलिंग और डिलीवरी के लिए भी साधन पहले से मौजूद हैं। चूंकि अमोनिया से कार्बन डाई ऑक्साइड नहीं निकलता और उसमें ऊर्जा भी खूब होती है तो ऐसे में यह कार्बन मुक्त (transhaport) ट्रांसपोर्ट के लिए एक बेहतर विकल्‍प हो सकता है।

वहीं अगर प्रदुषण के लिहाज से देखेंं तो अमोनिया से कार्बन डाई ऑक्साइड नहीं निकलता तो इन गाड़ियों प्रदुषण भी कम होगा और पॉवर के साथ-साथ माईलेज भी दमदार मिलेगा।