Whatsapp button

36 घंटे से हो रही झमाझम बारिश से नगर एवं क्षेत्र के हर नदी नाले उफान पर हैं। क्षेत्र के 150 से ज्यादा गांवों का संपर्क तहसील मुख्यालय से कट गया है। बारिश थमने के बाद गिधौरी में महानदी के पुल पर से करीब 4 फीट पानी बहने से पुल पर आवागमन बंद हो गया है तथा गिधौरी के घरों एवं दुकानों में करीब 4 फीट पानी भर जाने से लोग अपने सामान ऊंचे स्थानों पर ले जाने जद्दोजहद करते रहे। प्रशासन की टीम बाढ़ नियंत्रण के लिए मुस्तैदी से तैनात है।

26 अगस्त शाम से कसडोल नगर एवं क्षेत्र में अनवरत झमाझम बारिश हो रही है। लगातार हो रहे बारिश से नदी नालों में बाढ़ की स्थिति निर्मित हो गई है। नगर के निचले इलाकों एवं नदी नालों के आसपास की बसाहटों के घरों में 3 से 4 फीट पानी भर गया है। घरों में पानी भर जाने से प्रभावित लोगों के घरों में चूल्हा चौका बंद हो गया है। लोग अपने घरों में रखे खाने पीने के एवं अन्य सामानों को सुरक्षित बचाने 26 अगस्त की रात से जद्दोजहद कर रहे हैं। महानदी ,जोंक नदी एवं शिवनाथ नदी में भी बाढ़ की स्थिति बन गई है।

पहली बार है जब बाढ़ की सूचना नहीं दी गई

गिधौरी के रामगोपाल साहू, रामेश्वर प्रसाद साहू, चंद्रहास साहू, विक्रम बंजारे आदि ने बताया कि यह पहली बार है कि बाढ़ की सूचना नहीं मिली। सुबह ही एकाएक पानी बढ़ने से दुकान एवं घर के सामानों को ऊपर पहुंचाया है जिससे भारी परेशानी व नुकसान हुआ है। पहले से बाढ़ की सूचना मिल जाने से सभी सामान आराम से उचित स्थान पर रख लेते थे।

कीमती सामान ऊपर ले गए हैं फिर भी काफी सामान बह गया। दुकानों के सभी सेनेटरी सामान रंग पेंट डूब गया है। शुक्रवार शाम 6 बजे तक गिधौरी के घरों एवं दुकानों में 5 फीट तक पानी भर गया था। गिधौरी बस स्टैंड पर भी 4 फीट पानी भर गया है और बाद अभी बढ़ती ही जा रही है।

सुबह 5 बजे से घरों में घुसने लगा था पानी

सभी प्रमुख नदियों में अचानक आई बाढ़ से शुक्रवार सुबह करीब 5 बजे से गिधौरी में महानदी का जलस्तर तेजी से बढ़ने लगा जिससे चिंतित गिधौरीवासी और निचले बस्तियों में रहने वाले लोग एवं दुकानदार ऊंचे स्थानों पर अपने सामानों को पहुंचाने की जद्दोजहद करते रहे।

    विज्ञापन हेतु संपर्क करें8889075555