रायपुर. रायपुर विकास प्राधिकरण (आरडीए) ने प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बन रहे मकानों की किस्तें घटा दी है। पीएम आवास योजना में सबसे पहले 24 और 12 किश्तों के जरिए आवंटितियों को राशि के भुगतान का समय दिया जा रहा था, लेकिन अब नए आवंटितियों के लिए 5 किस्तें कर दी गई है।

एक तरफ जहां आरडीए समय पर मकानों का निर्माण नहीं कर पा रहा है तो दूसरी तरफ किस्तें घटाकर ग्राहकों की परेशानी बढ़ा दी गई है।

इंद्रप्रस्थ रायपुरा और कमल विहार के पीएम आवास योजना में पूरी राशि देने के बाद भी ग्राहकों को पजेशन का इंतजार करना पड़ रहा है। कमल विहार के सेक्टर-4, सेक्टर-11 और सेक्टर 14 में भी पीएम आवास योजना के अंर्तगत ग्राहकों को आवंटन किया गया है, लेकिन यहां भी कार्यों की रफ्तार सुस्त गति से चल रही है।

IMG 20201122 WA0003 | City News - Chhattisgarh

कोविड-19 का हवाला

आरडीए के आला अधिकारी और आरडीए अध्यक्ष सुभाष धुप्पड़ प्रोजेक्ट में लेटलतीफी की बड़ी वजह कोविड-19 को मान रहे हैं। आरडीए अध्यक्ष का कहना है कि कोविड-19 की वजह से बीते कई महीनों से काम-काज प्रभावित हुआ है।

IMG 20201122 WA0002 | City News - Chhattisgarh

शीघ्रता से पूरा करने के लिए अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिया गया है। हालांकि आरडीए के सूत्रों का कहना है कि कोविड-19 से बड़ी वजह कंस्ट्रक्शन कंपनियों को भुगतान नहीं होना सबसे बड़ी वजह है।

भुगतान 50 फीसदी से कम

कंस्ट्रक्शन कंपनियों को भुगतान नहीं होने की वजह से आरडीए और कांट्रेक्टर्स के बीच आए दिन विवाद की स्थिति बनती जा रही है। कमल विहार और इंद्रप्रस्थ में बीते कई दिनों से इसकी वजह से काम भी बंद कर दिया गया था।

IMG 20201122 WA0005 | City News - Chhattisgarh

कांट्रेक्टर्स ने शर्त रख दी थी कि जब तक भुगतान नहीं होगा तब तक काम दोबारा शुरू नहीं होगा। कांट्रेक्टर्स का कहना है कि आरडीए से कभी भी पूरा भुगतान नहीं किया जाता है। उदाहरण के तौर पर 20 लाख के काम में 5 लाख का भुगतान किया जाता है। लंबे समय से 50 फीसदी से कम भुगतान किया जा रहा है ।