• 31 JULY 2020
  • City news – Chhattisgarh

City news logo Subscribe Youtube channel 

बीरगांव नगर निगम के कचरा गाड़ी में कभी अवैध शराब – गांजा का परिवहन होता है तो कभी जिंदा इंसानों को कोरोना वायरस से भरे कचरा गाड़ी में ठूंसकर, कोरोना संक्रमण परोसा जाता है….बीरगांव नगर निगम क्षेत्र जो कि कोरोना का हॉटस्पॉट कहलाता है,  मुख्यमंत्री और कलेक्टर भी बीरगांव को लेकर गंभीर है , चिंतित है परन्तु इस मामले में बीरगांव क्षेत्र के बड़े नेता और बीरगांव नगर निगम के आयुक्त जरा भी गम्भीर नही है…

Blur supermarket and people with bokeh background, banner, Product shelf, business backgroundकल गुरूवार को बीरगांव में फिर 15 मरीज मिले थे , और आज शुक्रवार को  09 मरीज मिले – किंतु नगर निगम ना तो कहीं सेनेटाइज करती है ना ही कोरोना के रोकथाम फैलाव को रोकने किसी भी प्रकार का उपाय करते नजर नहीं आती, यहां तक कि कम से कम चुना छिड़ककर लोगो को संतुष्ट कर देते किंतु कुछ भी नहीं…पार्षद लोग भी कमिशनर , महापौर और विधायक को बोल – बोलकर थक गए, कमिशनर जब महापौर और   पार्षदों के नही सुनते तो आम जनता किस खेत की मूली है, अब तो पार्षद लोग भी संघर्ष करने के बजाय 144 धारा के डर से चुप बैठ गये हैं |

कुछ पार्षद है जो सक्रिय नजर आते है बाकी पार्षद अपने वार्ड के लोगों की गाली खाने मजबूर दिखते  है , कहा जा रहा है कि यह कमिशनर विधायक जी का खास है इसलिए कमिशनर को किसी की परवाह नहीं है |

लोग कहते हैं कि  विधायक जी भी चुनाव जीतने के बाद से बीरगांव क्षेत्र से मुंह फेर लिए है , किसी भी जनसमस्या पर ध्यान नही देते… पहले जब बीरगांव में कोरोना का संक्रमण बिलकुल नही था तब सब आते थे,  घर घर -चांवल दाल साबून सोडा आदि मदद करते थे लेकिन अब जब बीरगांव में कोरोना का शतक पार हो चुका है, मदद करना तो दूर कोई झांकने तक नहीं आता,  बीरगांव क़ो लावारिस छोड़ दिये है,  विधायक जी कम से कम अपने कमिशनर को फोन करके बीरगांव नगर निगम की व्यवस्था ही दुरूस्त करवा देते…

बीरगांव नगर निगम खुद कर रहा कलेक्टर के आदेश का उल्लंघन – कोरोना के चैन को तोड़ने, कोरोना के फैलाव को रोकने और लॉकडाउन के लिए बनाये गये नियम शर्तों की धज्जियां उड़ा रही बीरगांव नगर निगम के कमिश्नर को इसकी जरा भी परवाह नही है|

कई बार उनके जानकारी में लाने के बाद भी किसी भी गलत को रोकने रूचि नही लेते, एैसा लगता है वो केवल टाइम पास कर रहे हैं बीरगांव में, कहां क्या हो रहा है इससे कोई मतलब नही रहता… सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उड़ाके बीरगांव नगर निगम का कचरे गाड़ी में कचरे की जगह इंसानों को ठूंसकर खुलेआम परिवहन किया जा रहा है|

जब वाहन चालक से पुछा गया तो वाहन चालक ने बताया कि साहब लोग ही बोले है मुझे क्या – साहब जैसा आदेश देगें उसका पालन करना पड़ता है नहीं तो नौकरी से हाथ धोना पड जायेगा, बताया जा रहा है कि ये पहली मर्तबा नही है इसके पहले भी कई अवैध कार्यों में लिप्त पाया गया है |

यहां तक कि निगम के सरकारी कचरा गाडी से लगातार कई महिनों से अवैध शराब का परिवहन किया जा रहा था, नशे में धुत्त ड्राइवर द्वारा दारू से भरी कचरा गाडी का एक्सीडेंट हो जाने से मामला सामने आया था |

उरला थाना में मामला दर्ज भी है और अभी तक वह गाडी थाने में जब्त है, थाना जाने वाले को वह निगम का कचरा गाडी नगर निगम के अधिकारियों की बहादुरी और नेक कार्यों की गाथा का गुणगान करते नजर आता है,

बीरगांव के निगम कमिशनर चाहे नगर निगम के सरकारी वाहन से शराब और गांजा तस्करी होता रहे, चाहे खुद नगर निगम के अधिकारी –  कर्मचारी शराब के नशे में धुत्त रहकर दिनभर ड्यूटी में मौज मस्ती करता दिखे, या नगर निगम मुख्यालय में अधिकारी और नेता दारू पार्टी करे…  लेकिन कमिशनर को फर्क नहीं पड़ता कि बीरगांव की छबी खराब हो रही है या नगर निगम का नाम खराब हो रहा है,  जब मुखिया ही सुस्त हो तो निगम या निगम क्षेत्र को चुस्त दुरूस्त रखने की अपेक्षा बेवकूफी है !!

.                           सिटी न्यूज रायपुर

 Subscribe Youtube channel