वेबसाइट पर जारी संदेश में कहा गया है कि, ”कृपया ध्यान दें, यदि हमारे किसी उत्पाद की सामग्री में जिलेटिन होता है, तो वह हलाल प्रमाणित और बीफ़ से निकाला जाता है। भारत में लोगों को कैडबरी का बहिष्कार करने के लिए आह्वान किया गया है। कई लोगों ने इस स्क्रीनशॉट को इस दावे करने के साथ साझा किया है कि भारत में बेचे जाने वाले कैडबरी उत्पादों में गोमांस मिलाया जाता है।

हालांकि, कंपनी ने इस पर जवाब देते हुए कहा है कि यह पूरी तरह से भ्रामक है, क्योंकि ये उत्पाद भारत से संबंधित नहीं है। कंपनी ने बताया कि भारत में बेचे जाने वाले उसके प्रोडक्ट में बीफ या किसी भी प्रकार के अन्य मांस का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। कंपनी ने लोगों से किसी भी मैसेज को आगे शेयर करने से पहले उनसे संबंधित तथ्यों को वैरिफाई करने का भी अनुरोध किया है।

RAIPUR BREAKING : राजधानी रायपुर में 7 करोड़ की GST चोरी मामले में दो कारोबारी गिरफ्तार, फर्जी बिल रैकेट फ़र्म का खुलासा…!!

इसके साथ ही कंपनी ने जोर देते हुए आगे कहा, चॉकलेट के रैपर पर हरे रंग का सर्कल दर्शाता है कि भारत में निर्मित और बेचे जाने वाले सभी उत्पाद 100% शाकाहारी हैं। कैडबरी ने कहा कि आप अच्छे से जानते हैं कि इस तरह के नकारात्मक और भ्रामक पोस्ट हमारे सम्मानित और बड़े ब्रांड के प्रति ग्राहकों का विश्वास ​कम कर सकते हैं।