स्वास्थ्य विभाग की स्पेशल टाॅस्क फोर्स टीम ने शुक्रवार को मस्तूरी क्षेत्र में अवैध रूप से संचालित नर्सिंग होम व क्लीनिक पर छापा मारा। पचपेड़ी में होम्योपैथी डाॅक्टर की क्लीनिक में टीम को एक्स-रे मशीन और एलोपैथी दवाएं मिली। इसके अलावा झोला छाप डाॅक्टरों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए तीन क्लीनिक सील कर दिया है। सभी के खिलाफ नर्सिंग एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। मस्तूरी क्षेत्र के वेद परसदा गांव में एक झोला छाप डाॅक्टर के इलाज के दौरान एक वृद्ध की मौत कुछ दिन पहले हो गई थी।

उसके पुत्र ने की इसकी शिकायत पुलिस और स्वास्थ्य विभाग से की थी। नर्सिंग होम एक्ट के तहत कार्रवाई करने के लिए सीएमएचओ डा. प्रमोद महाजन ने डा. मनीष श्रीवास्तव, डा. सौरभ शर्मा और डा. अनिल श्रीवास्तव की टीम को कार्रवाई करने के लिए शुक्रवार को पचपेड़ी क्षेत्र में भेजा। पचपेड़ी में सांई क्लीनिक दिखा। जांच में पता चला इसका संचालन डॉ. सनत साहू द्बारा नर्सिंग होम बिना पंजीयन के चलाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें – बिरगांव – उरला क्षेत्र में हुए कुल 32 लाख की लूट के वारदात में चीखता रह गया कैशियर ; किसी में नहीं हुई मदद करने की हिम्मत ; जानिए क्या है पूरा मामला

डॉ. की योग्यता बीएचएमएस (होम्योपैथी) की है, लेकिन वह एलौपैथी पद्धति से इलाज कर रहा था। क्लीनिक में एलौपैथी दवा पाई गई। यहां अवैध रुप से एक्स-रे मशीन रखकर मरीजों का एक्स-रे भी किया जा रहा था। टीम ने क्लीनिक को सील कर दिया।

इसके बाद टीम ग्राम वेदपरसदा के झोला छाप डॉक्टर की शिकायत की जांच करने पहुंची, लेकिन टीम के पहुंचने से पहले ही झोला छाप डॉक्टर क्लीनिक बंद कर फरार हो गया था । टीम ने वेद परसदा में एक झोलाछाप डॉ. सूरज प्रसाद साहू को प्रेक्टिस करते पाया। उसके क्लीनिक में एलौपैथी दवाईयों का जखीरा मिला । इसी तरह ग्राम किरारी में भी एक झोलाछाप को अवैध प्रेक्टिस करते पाया इन दोनो के क्लीनिक पर कार्रवाही करते हुए सील कर दिया गया।

यह भी पढ़ें – सड़क हादसा : राजधानी के पास एलपीजी गैस टैंकर और ट्रक में जबरदस्त भिड़ंत ; पांच घंटे कड़ी मशक्कत के बाद गंभीर हालत में फंसे ड्राइवर को निकाला गया