• City News Raipur 
  • Bollywood news

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से बॉलीवुड पर ड्रग्स सिंडिकेट का हिस्‍सा होने के आरोप लगातार लग रहे हैं। इस मामले में NCB ने रिया चक्रवर्ती, शोविक चक्रवर्ती, दीपिका पादुकोण, सारा अली खान, श्रद्धा कपूर, फिरोज नाडियाडवाला और उनकी पत्नी शबाना सईद, भारती सिंह और उनके पति हर्ष लिंबाचिया, अर्जुन रामपाल आदि सेलेब्स से पूछताछ की है। इस मामले में अभी तक 34 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। हालांकि, ड्रग्स के मद्देनजर इनमें से किसी के ब्लड की जांच नहीं हुई। इस बात की पुष्टि NCB के एक अधिकारी ने की है।

आमतौर पर कोई मेडिकल जांच नहीं होती

NCB के अधिकारी ने कहा, “आमतौर पर आरोपी की ड्रग्स के लिए कोई मेडिकल जांच नहीं होती। अरेस्ट के पहले नॉर्मल हार्ट का चेकअप होता है। मीडिया में गलत तथ्य है कि ड्रग्स के मद्देनजर भारती सिंह की जांच हुई। ऐसा नहीं हुआ है। उनका नॉर्मल मेडिकल चेकअप हुआ।

यह भी पढ़ें – दर्दनाक हादसा : बॉक्साइट से भरे ट्रक ने 2 बाइक सवार युवकों को मारी टक्कर ; फिर दोनों को कुचलते हुए निकल गया

यही बात दीपिका, सारा, श्रद्धा, अर्जुन आदि पर लागू रही। धर्मा प्रोडक्शन से जुड़े डायरेक्टर क्षितिज प्रसाद की गिरफ्तारी या उसके बाद किसी में ड्रग्स के लिए ब्लड टेस्‍ट नहीं हुआ। क्षितिज ड्रग्स मामले में 16वां केस है इसे ही क्राइम नंबर 16/20 कहा जाता है।”

फिर आरोपी का गुनाह कैसे साबित होगा? यह पूछे जाने पर अफसर ने कहा, “जब से NDPS एक्ट (National Domestic Preparedness Consortium amendment 2014) आया है, तब से किसी का ब्लड टेस्‍ट नहीं हुआ है। यह यूनिफॉर्म प्रैक्टिस नहीं है। हो सकता है कि कुछ केसेज में स्टेट के नारकोटिक्स डिपार्टमेंट ने कभी ड्रग्स को ध्‍यान में रखते हुए टेस्‍ट किए हों। लेकिन, यह आम चलन में नहीं है। भारती का केस छोटा है। उन पर कंजप्शन का ही चार्ज लगा है। ड्रग्स केस में पकड़े गए आरोपी का ब्लड टेस्‍ट हो ही, यह रुटीन प्रैक्टिस का हिस्सा नहीं है।”

ब्लड टेस्‍ट का ज्युडिशियरी से लेना-देना नहीं

अधिकारी ने यह भी कहा, “ब्लड टेस्‍ट का कंविक्शन, ट्रायल और ज्युडिशियरी से लेना-देना नहीं होता है। अगर आरोपी के पास से तय मात्रा में नशीले पदार्थ जब्त होते हैं, तो वह भी अपराध ही है। क्वांटिटी के हिसाब से सजा मुकर्रर होती है। कुछ मामलों में जरूर कभी-कभी ब्लड टेस्‍ट हुए होंगे। लेकिन, बॉलीवुड के मामले में अब तक ऐसा नहीं हुआ है।”

यह भी पढ़ें – रायपुर में एक और रेप : युवती से दोस्ती कर मिलने बुलाया होटल में ; फिर नशे का इंजेक्शन देकर दोस्तों ने मिलकर किया गैंगरेप

ड्रग्स के मामले में आरोप दो तरह के होते हैं: उज्जवल निकम

जब इस मामले में सीनियर एडवोकेट उज्जवल निकम से बात की तो उन्होंने कहा कि NCB को सभी सेलेब्स का ब्लड टेस्ट करना चाहिए था। उन्होंने ने कहा, “ड्रग्स के मामले में आरोप दो तरह के होते हैं। एक ड्रग्स रखने का और दूसरा ड्रग्स का सेवन करने का। दीपिका, सारा, श्रद्धा, भारती आदि के मामले में केस कंजप्शन का है या पजेशन का, वह देखने वाली बात है।”

निकम आगे कहते हैं, “ड्रग्स कंजप्शन का केस है तो ब्लड चेकअप जरूरी है। लेकिन, सिर्फ पजेशन का केस है तो उस मामले में ब्लड टेस्‍ट नहीं किया जाता। हालांकि, अगर दोनों तरह का केस है तो पुलिस सुप्रीमकोर्ट की गाइडलाइन के मुताबिक आरोपी को मेडिकल हेल्थ चेकअप के लिए भेजती है। मेरे ख्याल से रिया से लेकर बाकी लोगों का ब्लड टेस्‍ट करना चाहिए था।”

टेस्ट करना या न करना अधिकारी पर निर्भर

निकम कहते हैं, “सेलेब्स का केस ड्रग एडिक्शन का है। अगर आदत है तो संबंधित इंसान ने जांच वाले दिन या उससे एक शाम पहले भी ड्रग कंज्यूम किया होगा। ऐसे में ब्लड टेस्‍ट बनता था। हालांकि, यह जांच अधिकारी पर निर्भर करता है कि वह टेस्‍ट करना चाहता है या नहीं।”

निकम ने कहा, “अगर किसी ने महीने या दो महीने पहले ड्रग्स कंज्यूम किया है तो ब्लड टेस्‍ट करने पर भी कुछ संदिग्‍ध नहीं मिलता। भारती सिंह के यहां से 86 ग्राम नशीले पदार्थ मिले या अर्जुन रामपाल के यहां से जो भी अमाउंट मिला, उसके हिसाब से सजा तय होगी। ये पजेशन वाले मामले हैं, कंजप्शन के नहीं। लिहाजा, यहां ब्लड टेस्‍ट बहुत जरूरी नहीं हैं।”

यह भी पढ़ें – रायपुर : राजभवन घेरने निकले प्रदेश के सैकड़ों किसानों को पुलिस ने रोका ; आज राजधानी में किसान संसद ; जानिए पूरा मामला

अभी किसी सेलेब को क्लीन चिट नहीं

NCB के अधिकारी ने बताया, “अर्जुन रामपाल जैसे सेलेब्स के मामले अभी पूरी तरह जद में नहीं आए हैं। अभी तो जो बड़े पैडलर पकड़े गए हैं, उन पर कार्रवाई हो रही है। हां, किसी भी सेलेब को क्‍लीन चिट नहीं मिली है। सबकी चार्जशीट बन रही है। आरोपियों ने जो स्टेटमेंट दिया और जो सबूत मिले हैं, उन दोनों पहलुओं को मैच किया जा रहा है। अभी भी किसी को क्‍लीन चिट नहीं दी है।”

अधिकारी ने अंत में कहा, “बाकी रिया चक्रवर्ती के मामले में हाईकोर्ट के फैसले को चैलेंज करना है या नहीं, उस पर दि‍ल्ली में NCB के डीजी आपस में चर्चा करेंगे। अभी फिलहाल NCB को इस मामले में और सबूत मिले हैं। उन पर चार्जशीट तैयार की जा रही है।”