• 210 ट्रांसफार्मर रायगढ़ व 130 जांजगीर जिले में खराब हुए, गर्मी में 30 प्रतिशत फेलियर के मामले बढ़े

10 june 2020

City News – CN

रायगढ़ | लॉकडाउन के दौरान लोग घर में रहे, बिजली की खपत बढ़ी और लोड बढ़ा तो रायगढ़ और जांजगीर जिले में 340 ट्रांसफार्मर खराब हो गए। गर्मी में एसी और कूलर भी खूब चले। रिहायशी क्षेत्रों में ट्रांसफार्मरों पर लोड ज्यादा रहा। साथ ही मार्च, अप्रैल और मई तेज हवा चली और गरज-चमक भी खूब हुई। रायगढ़ सर्किल में 210 तो जांजगीर जिले में 130 से ज्यादा ट्रांसफार्मर फेल हुए हैं।

गर्मी में ट्रांसफार्मर फेलियर का यह आंकड़ा 30 प्रतिशत रहा। दोनों जिले में इस साल 14.61 करोड़ रुपए के 1418 ट्रांसफार्मर फेल हुए हैं। विद्युत मंडल 2015-16 में शहरी क्षेत्रों में आरएपीडीआरपी व ग्रामीण क्षेत्रों में राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना के तहत लोड मेंटेन करने अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाए थे, लेकिन समय के साथ घरों में बढ़ते विद्युत उपकरण और नए कनेक्शनों से लोड बढ़ने लगा है।

यह मुख्य खबर भी देखें – कैलाश नगर पार्षद “नशे के सौदागर” से नाराज वार्ड वासी

पिछले साल रायगढ़ में कुल 872 तो जांजगीर में 632 ट्रांसफार्मर अबतक की स्थिति में खराब हुए थे। इस साल यह रायगढ़ में 893 और जांजगीर जिले में यह आंकड़ा 525 है।  

रायगढ़ शहर में 28 ट्रांसफार्मर फेल हुए
इस साल रायगढ़ के शहरी इलाकों में जोन एक में 17 ट्रांसफार्मर खराब हुए हैं। तो जोन टू में 9 नए ट्रांसफार्मर बदले गए। बावली कुआं के लोगों को ट्रांसफार्मर फेल होने से पूरी रात अंधेरे गुजारनी पड़ी। इसके अलावा वृंदावन, बस डिपो, दीनदयाल जूटमिल, चक्रधर नगर में अतिरिक्त ट्रांसफार्मर होने से लोगों को परेशानी नहीं हुई।  

बीते सालों से ज्यादा है
“बीते सालों की तुलना में इस साल ट्रांसफार्मर फेलियर के केस थोड़े ज्यादा हैं, क्योंकि गर्मी में घरेलू कनेक्शनों पर लोड ज्यादा रहा। प्राकृतिक आपदा लाइटिंग ने भी काफी नुकसान पहुंचाया हैं। नहीं तो सबसे ज्यादा पंप कनेक्शनों के ट्रांसफार्मर फेल होते हैं।” 
-सीएस सिंह, चीफ इंजीनियर विद्युत मंडल

ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए  – 

हमारे   FACEBOOK  पेज को   LIKE   करें

सिटी न्यूज़ के   Whatsapp   ग्रुप से जुड़ें

हमारे  YOUTUBE  चैनल को  subscribe  करें

Source link