रायपुर, भूपेश बघेल सरकार ने तय किया है कि प्रदेश में आगामी 1 जनवरी 2022 से प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी की जाएगी। आज विधानसभा मे यह संकल्प प्रस्तुत करते हुए इस बात की घोषणा की है हालांकि इस पर अभी चर्चा जारी है। उसके उपरांत ही यह संकल्प  पास होगा। FB IMG 1627456061332 | City News - Chhattisgarhबताते चलें कि विधानसभा चुनाव के समय कांग्रेस पार्टी ने यह घोषणा की थी कि सत्ता में आने पर वह पूरे प्रदेश में शराबबंदी करेगी लेकिन ढाई साल होने को आ गए अभी तक शराबबंदी नहीं हो सकी है। इसे लेकर सरकार जनता और विपक्ष के बीच तीखी आलोचना का शिकार हो रही थी लेकिन आज सरकार ने संकल्प प्रस्तुत करते हुए साफ कर दिया है कि वह पूर्ण शराबबंदी की ओर बढ़ रही है। 
सरकार ने अपने संकल्प में कहा है कि छत्तीसगढ़ राज्य में 1 जनवरी 2022 से पूर्ण शराबबंदी की जाएगी। बलौदा बाजार के विधायक प्रमोद कुमार शर्मा ने इस संकल्प को प्रस्तुत किया है जिस पर सदन में चर्चा की जा रही है। माना जा रहा है कि देर रात तक इसे पारित कर दिया जाएगा और उसके बाद प्रदेश में 1 जनवरी 2022 पूर्ण शराबबंदी लागू हो जाएगी।
सरकार ने संत रविदास की जयंती पर भी अवकाश देने का फैसला किया है इसे लेकर सरकार सदन में यह संकल्प प्रस्तुत करेगी। विधायक अजय चंद्राकर इस संकल्प को प्रस्तुत करेंगे जिस पर चर्चा होगी लेकिन अब यह तय है कि संत रविदास की जयंती पर भी प्रदेश में 1 दिन का अवकाश होगा।