Whatsapp button

रायपुर। छत्तीसगढ़ के कांकेर में पत्रकार कमल शुक्ला के साथ हुई मारपीट का मामला सुर्खियों में है . राज्य भर के पत्रकारों में आक्रोश है . सरकार पर सवाल उठाए जा रहे हैं . इसी बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस हमले की न केवल कड़ी निंदा की , बल्कि इसे गलत भी ठहराया है . उन्होंने कहा कि पीड़ित ने पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है , उसी आधार पर कार्रवाई हुई और आरोपी भी पकड़े गए .

इंटक ( इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस ) हमसे सीधा सम्बंधित नहीं है . भूपेश ने कहा कि अपराधी कोई भी हो , चाहे किसी दल से जुड़ा हो , उसके खिलाफ कर्रवाई हुई है . रिपोर्ट आ रही है , जांच करवा देते हैं . अगर वो सही हैं , तो और धाराएं जोड़ेंगे ।

पहले और अब की स्थिति की अंतर को समझिए

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आगे कहा कि इसी प्रदेश में बिलासपुर में पत्रकार की हत्या हुई , उसकी सीबीआई जांच का क्या हुआ ? पुलिस कस्टडी में जो आरोपी पकड़े गए थे उसका क्या हुआ ? इसी बस्तर में यादव पत्रकार को जन सुरक्षा अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया .

दुर्भाग्य की बात है की मीडिया ने उसे अपना प्रतिनिधि या कर्मचारी मानने से इनकार कर दिया था . उन्होंने कहा कि आज पत्रकार कम से कम ताल ठोंककर कह रहै हैं कि भूपेश हम आ रहे हैं . मैं इसका स्वागत करता हूं . यही प्रजातंत्र है . उस समय की स्थिति और आज में क्या अंतर है ये महसूस करिये ? घटना कोई भी हो निंदनीय है . मैं उसकी कड़ी निंदा करता हूँ . ऐसा नहीं होना चहिए , लेकिन हो गया तो उसके खिलाफ सख्त करवाई की जाएगी .

पिछले कार्यकाल में और इस कार्यकाल में अंतर आपको स्पष्ट दिखाई दे रहा है . दिखाई दे रहा है कि नहीं दे रहा है . मैं ये जानना चाहता हूँ ।

Corona Breaking : आज प्रदेश में कुल 2272 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई ; 19 लोगों की मौत ; देखिये अपने शहर की रिपोर्ट

पत्रकार जन सुरक्षा कानून

पत्रकार जन सुरक्षा कानून पर सीएम भूपेश ने कहा कि यह कानून पत्रकार ही बना रहे हैं . जनता से ही हमारी सरकार बनी है . सरकार बनने के बाद लोकसभा चुनाव डिक्लेअर हो गया . लोकसभा 3 महीने चला . उसके बाद नगरीय निकाय चुनाव , फिर पंचायती राज चुनाव हुए .

जो सरपंच जीतकर आये उसका सम्मान भी नहीं कर पाए , कोरोना वायरस आया और लॉकडाउन हो गया . इस बीच जितना सम्भव हो पाया कर रहे हैं . हम पीछे नहीं हट रहे . उन्होंने कहा कि कानून फाइनल स्टेज में होगा .

जल्द ही आपकी चर्चा के लिए पब्लिश किया जाएगा . उसमें आपके सुझाव आमंत्रित किये जायेंगे . अपनी प्रकार का देश में यह पहला कानून होगा , तो देख समझकर बनाया जाएगा . इसके लिए आपके सुझाव आमंत्रित हैं ।