रायपुर l रेलवे के स्क्रैप से क्रिएटिव आर्ट बनाने के लिए मशहूर आर्टिस्ट अशोक देवांगन ने आजादी के बाद से देश के लिए जान कुर्बान करने वाले शहीदाें की याद में बनाए गए नेशनल वाॅर मेमोरियल (राष्ट्रीय युद्ध स्मारक) की रेप्लिका बनाई है।

35 फीट ऊंची और 5 फीट चौड़ी रेप्लिका अब झांसी रेलवे स्टेशन की शान बढ़ाएगी। वैगन के लोहे की प्लेट्स के इस्तेमाल से बनाई गई रेप्लिका का वजन लगभग 4 टन यानी 4 हजार किलो है।

अशोक ने बताया कि इसे बनाने में लगभग ढाई महीने लगे हैं। रेलवे में सीनियर टेक्नीशियन के पद पर कार्यरत अशोक ने ये रेप्लिका सुदामा राय, अशोक गुप्ता, संतोष निषाद, मुस्तफा, गिरीश चंद्रा की मदद से तैयार की है।

अशोक के नाम दर्ज हैं 2 रिकाॅर्ड

  • अशोक अब तक 10 से ज्यादा बड़ी रेप्लिका बना चुके हैं। 2014 में उन्होंने गेटवे ऑफ इंडिया की 25 फीट ऊंची और 40 फीट लंबी रेप्लिका बनाई थी। ये रेप्लिका लिम्का बुक में दर्ज है।

 

  • 2016 में उन्होंने मेक इन इंडिया का 65 फीट लंबा और 35 फीट ऊंचा लोगो बनाया था। ये रेप्लिका गोल्डन बुक में दर्ज है। वे इंडिया गेट, स्टीम इंजन का मॉडल, लोहार की आकृति जैसे कई डिजाइन बना चुके हैं।

देश के लिए कुर्बान होने वाले शहीदों की याद में 2019 में बनाया स्मारक
नेशनल वाॅर मेमाेरियल यानी राष्ट्रीय युद्ध स्मारक नई दिल्ली के इंडिया गेट के पास सशस्त्र बलों के सम्मान में बनाया गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 25 फरवरी 2019 को 44 एकड़ में बना नेशनल वॉर मेमोरियल राष्ट्र को समर्पित किया था।

ये लगभग 176 कराेड़ की लागत से बनाया गया है। मेमोरियल के केंद्र में 15.5 मीटर ऊंचा स्मारक स्तंभ है। अशाेक ने इसी स्तंभ की रेप्लिका तैयार की है। वास्तविक युद्ध स्मारक में अाजादी के बाद से अब तक शहीद हाेने वाले हजाराें जवानाें के नाम पत्थर पर लिखे गए हैं।