• कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह ने जेसीसीजे अध्यक्ष अमित जोगी पर झूठ बोलने का आरोप लगाया
  • जोगी ने कहा था- आधार कार्ड के पते पर नोटिस नहीं भेजा, सिर्फ ऋचा का अपमान कर रहे हैं

सिटी न्यूज़। छत्तीसगढ़ के मरवाही उपचुनाव को लेकर शुक्रवार को अधिसूचना जारी हो गई। इसके साथ ही जोगी के जाति विवाद को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर तेज हो गया है।

ऋचा जोगी को भेजे गए नोटिस पर अमित जोगी के सवाल को लेकर कांग्रेस ने पलटवार किया है। जोगी पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा है, ऋचा जोगी के आवेदन में आधार कार्ड का उल्लेख नहीं था।

कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह ने कहा, ट्वीट कर छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस अध्यक्ष अमित जोगी पर निशाना साधा है। प्रवक्ता सिंह ने लिखा है, अमित बाबू आपकी पत्नी ऋचा जोगी ने अपने आवेदन में कहीं भी आधार कार्ड का उल्लेख नहीं किया है। ऐसे में मुंगेली कलेक्टर को आकाशवाणी तो होगी नहीं। यही शिकायत संत कुमार नेताम ने भी की है।

 

ऋचा जोगी के आवेदन की कॉपी भी संलग्न की, लिखा दिए गए पते पर भी भेजा गया

उन्होंने दूसरे ट्वीट में आवेदन की कॉपी भी संलग्न की है। उसमें लिखा है, अमित बाबू आपकी पत्नी गुमशुदा है या फरार, आप ही बता सकते हैं। जहां तक नोटिस की बात है तो उसी अस्थायी और स्थायी पते पर भेजी गई है जो ऋचा रुपाली साधू ने अपने आवेदन में लिखा है। झूठ फैलाने से पहले आवेदन की कॉपी पढ़ लीजिए। और कितना झूठ बोलेंगे आप।

 

अमित जोगी ने कहा था- सबको पता है, शादी के बाद लड़की का घर ससुराल होता है

इससे पहले ऋचा जोगी को भेजे गए नोटिस पर उनके पति अमित जोगी ने कहा था, अजीत जोगी की बहू गुमशुदा या फरार है कि कलेक्टर मुंगेली को उनके स्वर्गीय दादा के घर में नोटिस चस्पा कर गांव में मुनादी करानी पड़ी।

सबको पता है कि लड़की का घर उसका ससुराल होता है। क्या एक बार भी उन्होंने आधार कार्ड वाले पते पर नोटिस भेजा?