Whatsapp button

रायपुर, वन एवं परिवहन और राजनांदगांव जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर ने आज यहां अपने शासकीय निवास कार्यालय से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था की समीक्षा की। अकबर ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना कोविड-19 महामारी के रोकथाम के लिए काफी गंभीर है।

कोरोना के बढ़ रहे मरीजों के संबंध में समीक्षा की और कहा कि सभी ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले मरीजों का अनिवार्य रूप से सीटी स्कैन कराया जाए। उन्होंने कहा कि जिन कोरोना केयर सेंटर में सीटी स्कैन की व्यवस्था नहीं है वहां के मरीजों को एम्बुलेंस के जरिए जिला अस्पताल में ले जाकर सीटी स्कैन कराया जाए।

अकबर ने कहा कि भारत सरकार के गाइडलाइन के अनुसार कोरोन मरीजो को तीन दिन तक बुखार नहीं आने और 10 दिन केयर सेंटर में रखने के बाद सात दिन तक होम आइसोलेशन के लिए सलाह देकर डिस्चार्ज किया जाए।

देशभर में लॉकडाउन की खबरें…वायरल खबरों को लेकर केंद्र सरकार ने जारी किया ये बयान…

मंत्री श्री अकबर ने वीडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुए समीक्षा बैठक के दौरान मेडिकल कॉलेज कोविड केयर सेंटर, कोविड केयर सेंटर खैरागढ़ और कोविड केयर सेंटर डोंगरगांव में उपचार करा रहे मरीजों से  चर्चा कर वहां की व्यवस्था के संबंध में जानकारी प्राप्त की।

अधिकारियों ने बताया कि जिलें में कुल 15 कोविड केयर सेंटर स्थापित किए हैं मेंडिकल कॉलेज कोविड केयर सेंटर में 15 वेन्टिलेटर उपलब्ध है। जिसमें आक्सीजन की जरूरत वाले मात्र दो मरीज ही तीन दिन से वेन्टिलेटर पर है। जिले के अन्य कोरोना केयर सेंटर में गंभीर लक्षण वाले मरीजों को तत्काल मेडिकल कॉलेज राजनांदगांव केयर सेंटर में रिफर कर दिया जाता है।

स्वास्थ्य मंत्री का प्लाज़्मा थेरेपी पर बयान ग़लत- अमित अजीत जोगी ; देखिये ऐसा क्यों कहा ?

वर्तमान में जिले में कोरोना मरीजों के लिए 1345 बिस्तर उपलब्ध हैं। अभी एक्टिव मरीजों की संख्या 772 है। जिलें में आरटीपीसीआर, ट्रू-नॉट और रैपिड एन्टिजन जांच के जरीए 47 हजार 719 सैम्पल लिए गए हैं। इनमें चार हजार 786 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। पीपीईकिट, दवाईयां पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।

Youtube button

 विज्ञापन के लिए संपर्क करें –  8889075555