SALE 80% OFF| 100 मास्क | ऑफर सिर्फ इस हफ्ते तक | अभी खरीदें | सुरक्षित रहें

अब शादी-विवाह में बस के परमिट के लिए नहीं पड़ेगा भटकना

29 june 2020,

City News – CN  City news logo

शादी, पिकनिक, मेला और तीर्थयात्रा के लिए आप अपने जिले से दूसरे जिले में जाते हैं तो अब अनिवार्य रूप से अस्थायी रूप से परमिट लेना पड़ेगा। अस्थायी परमिट के लिए बस संचालक को जिला परिवहन कार्यालय में अधिकारियों के दफ्तर के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।

अस्थायी परमिट बस संचालक अब घर बैठे आसानी से ले सकेंगे। इसके साथ ही ऑनलाइन ही इसका टैक्स भी पटा सकेंगे, क्योंकि परिवहन विभाग अब इसे ऑनलाइन करने जा रहा है। एक सप्ताह के भीतर ऑनलाइन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

उसके बाद अस्थायी परमिट आसानी से लिया जा सकेगा। अस्थायी परमिट न लेने पर यदि बस पकड़ी जाती है तो परिवहन विभाग कड़ी कार्रवाई करेगा। अधिकारी का कहना है कि बसों को अस्थायी परमिट अनिवार्य रूप से लेना पड़ेगा।

परमिट न लेने पर यदि पकड़े जाते हैं तो पेनाल्टी के साथ फीस वसूल की जाएगी। ज्ञात हो कि वर्तमान में विवाह, पिकनिक, मेला और तीर्थयात्रा जाने के लिए स्पेशल परमिट जारी होता है। परमिट के लिए बस संचालकों को परिवहन कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते हैं।

ऑनलाइन न होने से जहां पूरा दिन खराब होता था, वहीं कार्यालय में कभी आधार कार्ड तो कभी शादी का कार्ड मांग लिया जाता था, जिससे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। परिवहन विभाग सरलीकरण करने के लिए इसे ऑनलाइन कर रहा है।

बस संचालक परिवहन डॉट जीओवी इन पर जाकर खुद फार्म भरकर स्पेशल परमिट ले सकेंगे। बस संचालकों को 50 पैसे प्रति सीट प्रति 10 किलोमीटर के हिसाब से चुकाना पड़ेगा। परिवहन विभाग प्रत्येक माह इसको ऑडिट करेगा। टैक्स का राशि कम अदा करने वाले के खिलाफ कार्रवाई कर पेनाल्टी के साथ टैक्स वसूल करेगा।

ओवरलोड बस संचालकों के खिलाफ कार्रवाई

परिवहन विभाग के अधिकारी ने बताया कि स्पेशल परमिट लेने वाले 40 सीट की परमिट लेते हैं, लेकिन वह 50 से अधिक बाराती बैठा लेते हैं। इसलिए स्पेशल परमिट लेने वाली बसों का परिवहन विभाग औचक निरीक्षण किया जाएगा। परमिट के मुताबिक बसों में अधिक यात्री पाए जाते हैं तो बस संचालक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

एक माह में तीन बार ले सकेंगे परमिट

विवाह, पिकनिक, मेला और तीर्थयात्रा के लिए अपने जिले से दूसरे जिले में जाने के लिए एक माह में तीन बार ही स्पेशल परमिट जारी होगा। वर्तमान में ज्यादातर बस संचालक परमिट नहीं लेते हैं।

क्योंकि कोई बस संचालकों को कार्रवाई के नाम पर कोई खौफ नही है। लेकिन अब परिवहन विभाग के अधिकारी का दावा है कि इसके लिए स्पेशल टीम गठित की जाएगी जो कभी भी किसी भी रूट पर स्पेशल परमिट की जांच कर सकती है।

“शादी-विवाह के मौके पर स्पेशल परमिट जारी किया जाता है। अब इसे ऑनलाइन कर दिया जा रहा है, जिससे जरूरत पड़ने पर कोई भी ऑनलाइन फार्म भरकर आसानी से परमिट ले सकेगा।”

– शैलाभ साहू, आरटीओ, रायपुर

Source link

Breaking -   राज्य में 99 नए कोरोना मरीजों की पुष्टि हुई , जिसमे लगभग आधे सिर्फ रायपुर से, देखिये सूचि
Share on :