रायपुर, राजधानी की पुलिस ने शहर के अलग-अलग इलाकों में लगभग 45 चोरियां करने वाले दो दोस्तों को पकड़ा है। ये प्रोफेशनल चोर हैं, चोरी ही इनका काम है। आए दिन रायपुर के अलग-अलग इलाकों में किसी मकान या दुकान अपना हाथ साफ करने के बाद गिरफ्तार होते हैं। कुछ महीने बाद छूटते हैं फिर से चोरियों की वारदात को अंजाम देते हैं। गिरफ्तार हुए युवकों के नाम पवन मंडल और रोशन देवदास हैं। दोनों रायपुर के खमरडीह इलाके के रहने वाले हैं।

माना पुलिस ने बताया कि 29 सितंबर को अपने घर पर ताला लगाकर एक प्राइवेट कंपनी में अकाउंटेंट मुकेश यादव बाहर गए हुए थे। मुकेश 30 सितंबर की शाम के वक्त जब अपने घर वापस लौटे तो इनके घर चोरी हो चुकी थी। मकान के अंदर जाकर देखने पर सारा सामान बिखरा हुआ नजर आया । आलमारी का लॉक भी टूटा हुआ था। लगभग 2 लाख के जेवर चाेर अपने साथ ले गए थे।

CCTV ने पकड़वाया
घटना की जानकारी मुकेश ने माना पुलिस स्टेशन जा कर दी। इसके बाद टीम ने जांच शुरू की। मकान के आसपास के इलाकों में पतासाजी करने और कुछ CCTV फुटेज खंगालने पर यह बात सामने आई कि इस इलाके में घटना से एक दिन पहले पवन को उसके दोस्त देवदास के साथ देखा गया था। पवन का पुराना क्रिमिनल रिकॉर्ड रहा है। पुलिस फौरन पवन के घर पहुंची। पूछताछ में पवन ने बताया कि उसने ही अपने एक दोस्त रोशन देवदास के साथ मिलकर इस चोरी को अंजाम दिया। चोरी के बाद सामान को घर में ही छुपा दिया था। कुछ महीने पहले ही पवन चोरी के इल्जाम से छूट कर बाहर आया है। रायपुर शहर में पवन अपने साथी के साथ मिलकर लगभग 45 से अधिक चोरियों को अंजाम दे चुका है। फिलहाल पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है। एक बार फिर से इन्हें जेल भेजा जा रहा है।