• City news 
  • Chhattisgarh 

नया रायपुर के सेक्टर 19 में विधानसभा भवन को बनाने की परियोजना निर्माण एवं क्रियान्वयन समिति ने मंजूरी दे दी है। मुख्य सचिव आरपी मंडल की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में विधानसभा भवन के अलावा बिलासपुर जिले के खारंग- अहिरन जलाशय परियोजना और छपराटोला फीडर जलाशय परियोजना के प्रस्ताव को भी मंजूर किया गया।

पीडब्लूडी विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने बताया कि विधानसभा भवन बनाने में लगभग 275 करोड़ 76 लाख 19 हजार रुपए खर्च होंगे। दो मंजिला विधानसभा भवन के भूतल में सदन, विधानसभा अध्यक्ष कार्यालय, सीएम आफिस, मंत्रियों के कक्ष के साथ ही विधानसभा उपाध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष का कार्यालय होगा।

यह भी पढ़ें – छत्तीसगढ़ में दिखा निवार तूफान का असर ; दिनभर छाए बादल ; प्रदेश के इन जगहों पर आज भारी बारिश की संभावना

इसके अलावा समिति बैठक कक्ष और अधिकारियों के कक्ष भी बनाए जाएंगे। पहले तल पर विधानसभा सदन की गैलेरी बनाई जाएगी। इसमें मुख्य रूप से मीडिया, पब्लिक और अति विशिष्ट जनों की दीर्घा का निर्माण होगा। पहले तल पर ही 200 सीटर कॉन्फ्रेंस हॉल भी बनाया जाएगा।

दूसरी तल पर विधानसभा लाइब्रेरी और सेंट्रल हॉल बनाया जाएगा। पीडब्लूडी सचिव परदेशी ने सचिव एवं विभागाध्यक्ष स्तर के अफसरों और उनके कार्यालय के सुव्यवस्थित बैठक व्यवस्था के साथ ही महिला अफसरों के लिए कॉमन रूम भी बनाने के लिए कहा।

खारंग अहिरन लिंक जलाशय प्रोजेक्ट भी मंजूर

परियोजना निर्माण एवं क्रियान्वयन समिति की बैठक में जल संसाधन सचिव अविनाश चंपावत ने विभाग की दो प्रमुख योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 720 करोड़ 52 लाख रुपए की लागत से बिलासपुर जिले में अहिरन नदी पर खारंग अहिरन लिंक जलाशय बनाया जाएगा। इसमें अंडर ग्राउंड पाईप से नदी का पानी जलाशय तक लाया जाएगा।

यह भी पढ़ें – रायपुर ब्रेकिंग : बेटियों को भेजदिया भेल लेने ; फिर खुद पर मिट्टी-तेल डालकर कर ली खुदखुशी ; जानिए पूरा मामला

इससे बिलासपुर और रतनपुर शहरों में पेयजल आपूर्ति की जाएगी। साथ ही नदियों के किनारे बसे 208 गांवों की 56 हजार 285 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिलेगी। चंपावत ने कहा कि बिलासपुर के अरपा नदी पर प्रस्तावित छपराटोला फीडर जलाशय के बनने से अरपा नदी के आस-पास के क्षेत्रों में पानी का लेवल गिरने और जलापूर्ति की समस्या से निजात मिलेगा। इसके निर्माण पर लगभग 968 करोड़ 56 लाख रुपए खर्च होंगे।