• City News Chhattisgarh
  • Raipur News

रायपुर। प्रदेश में बर्ड फ्लू की दस्तक के चिंतित लोगों को स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने आश्वस्त करते हुए कहा कि इससे डरने की नहीं है, सावधानी की जरूरत है। प्रदेश में बोर्ड फ्लू के इलाज के लिए पर्याप्त व्यवस्था है।

बर्ड फ्लू में कारगर रेमडे शिविर इंजेक्शन प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने कहा कि बर्ड फ्लू को लेकर डॉक्टरों से लगातार बातचीत हो रही है।

मोदी के प्रोग्राम में जय श्रीराम के नारों पर भड़कीं ममता: भाषण दिए बगैर लौटीं; बोलीं- कार्यक्रम में बुलाकर बेइज्जती करना आपको शोभा नहीं देता

डॉक्टरों ने बताया है कि बर्ड फ्लू का इलाज इंजेक्शन और दवा है। कोरोना में लगाए जाने वाला इंजेक्शऩ रेमडे शिविर इंजेक्शऩ इस बीमारी के लिए कारगार है, जो प्रदेश में पर्याप्त उपलब्ध है।

प्रदेश में नहीं है लैब

बर्ड फ्लू जांच के लिए छत्तीसगढ़ में एक भी लैब नहीं है, सैंपल मध्यप्रदेश के भोपाल भेजा जाता है, इस पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि चर्चा करेंगे। आवश्यकता अनुसार बजट में पेश होने वाला है, उसमें शामिल किया जाएगा।

कोरोना वैक्सीनेशन:डर के चलते भारत में तय टारगेट में से सिर्फ 64% लोगों ने ही लगवाई वैक्सीन, जानिए क्या हैं साइड इफेक्ट के लक्षण

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में कोरोना मरीजों को लगाए जाने वाला रेमडे शिविर इंजेक्शऩ बर्ड फ्लू में कारगार है। बता दें कि प्रदेश में बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दिया है। बालोद के डौंडी में पहला मामला सामने आया था।

उसके बाद कई जिलों में पक्षियों की अचानक मरने लगे। सावधानिक पूर्वक सैपल लेकर भेजा गया है। राहत की बात है कि बालोद को छोड़ बाकी सभी जिलों का रिपोर्ट निगेटिव है।