• City news Raipur
  • Crime news 

राजधानी में बड़े पैमाने पर यूपी से नशीली सिरप लाकर खपाया जा रहा है। सिरप को सीधे शहर लाने के बजाय उसे भिलाई में डंप किया जा रहा है। वहां से थोड़ा-थोड़ा करके अलग-अलग रास्तों से रायपुर लाया जाता है। उसकी तस्करी की जाती हैं। पुलिस ने संतोषी नगर इलाके में नशीली सिरप बेचते हुए शुक्रवार को दो युवकों को गिरफ्तार किया है।

आरोपियों से 150 बोतल सिरप जब्त किया है। उन्हें सिरप की सप्लाई करने वाले भिलाई के युवक की पुलिस तलाश कर रही हैं। पुलिस अधिकारियों के अनुसार नशीली दवाई मामले में पिछले एक महीने के भीतर 20 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी हैं। पुलिस ने बताया कि मठपुरैना का मोहम्मद असीम उर्फ गुड्डन और अनिरुद्ध कामड़े दोनों घूम-घूमकर नशीली दवाई बेचते हैं।

यह भी पढ़ें – सर्दियों में हीटर चलाना पड़ सकता है भारी ; जानिए क्या हैं खतरनाक और कैसे बरतनी है सावधानी

आरोपियों का भिलाई से लिंक जुड़ा हुआ है। भिलाई से एक युवक उन्हें सिरप और टेबलेट लाकर देता है, जिसे आरोपी बस्तियों में जाकर दोगुने दाम में बेच रहे है। आरोपी पिछले डेढ़ साल से नशीली दवाई की तस्करी कर रहे हैं। उनके खिलाफ कई बार पुलिस के पास शिकायतें आई है। पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए छापा भी मारा, लेकिन पकड़ नहीं पाए। आरोपियों ने बताया कि महाराष्ट्र और ओडिशा के अलावा यूपी से सिरप की बड़ी खेप आती है।

ज्यादातर नशीली दवाइयां अभी यूपी से आ रही है। कार और ट्रांसपोर्ट के माध्यम से दवाइयों को लाया जाता है। पुलिस को शक न हो, इसलिए भिलाई में डंप किया जाता है। वहां से थोड़ा-थोड़ाकर के रायपुर लाकर खपाया जाता है। पुलिस नशीली दवाई की सप्लाई करने वाले गिरोह की तलाश में जुटी है।

यह भी पढ़ें – राहत भरी खबर : बिजली बिल हाफ योजना में 38 लाख लोगों को मिला 1336 करोड़ का लाभ ; देखें पूरी जानकारी

पुलिस रोज छापा मारकर नशीली दवाई बेचने वालों को पकड़ रही है। हालांकि दवाइयों की सप्लाई करने वाला कोई बड़ा आदमी अभी तक हाथ नहीं लगा है। पुलिस का दावा है कि दूसरे शहरों में बैठकर नशे का कारोबार करने वाले को छोड़ा नहीं जाएगा। पुलिस की स्पेशल टीम बड़े तस्करों की तलाश में जुटी हुई हैं।